Home /News /madhya-pradesh /

MP के इस गांव में अचानक पहुंचे सचिन तेंदुलकर, उमड़े फैन्स, भावुक होकर बोले- आज अगर पिता जिंदा होते...

MP के इस गांव में अचानक पहुंचे सचिन तेंदुलकर, उमड़े फैन्स, भावुक होकर बोले- आज अगर पिता जिंदा होते...

DEWAS-मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर एक NGO के कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. उनके साथ सेल्फी लेने के लिए होड़ लग गयी.

DEWAS-मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर एक NGO के कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. उनके साथ सेल्फी लेने के लिए होड़ लग गयी.

Dewas News : पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर आज देवास के संदलपुर में एक दिन के दौरे पर आए. जिसने भी उन्हें देखा वो पहले तो चौंक गया, फिर उनके काफिले के पीछे दौड़ने लगा. सचिन यहां पहुंचकर अपने पिता को याद किया. सचिन तेंदुलकर ने यहां परिवार नाम के एक NGO के कार्यक्रम में शिरकत की. वो यहां अपनी संस्था की तरफ से किए गए फंड का काम देखने पहुंचे थे.

अधिक पढ़ें ...

देवास. भारत रत्न मास्टर बलास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) आज देवास जिले के संदलपुर पहुंचे. उनके दौरे को बेहद गोपनीय रखा गया था. वो एक NGO के कार्यक्रम में शामिल होने आए थे. जिसने भी उन्हें देखा वो पहले तो चौंक गया, फिर उनके काफिले के पीछे दौड़ने लगा. सचिन यहां पहुंचकर अपने पिता को याद किया.

सचिन तेंदुलकर ने यहां परिवार नाम के एक NGO के कार्यक्रम में शिरकत की. उनके दौरे को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किये थे. आमजन को उनके इस कार्यक्रम से दूर रखा गया.
आंखों पर यकीन नहीं हुआ

सचिन तेंदुलकर का अचानक बागली से होते हुए काफिला गुजरा तो लोग चौंक गए. पहले तो उन्हें यकीन नहीं हुआ और फिर समझ आते ही वो गाड़ी के पीछे दौड़ने लगे. सचिन इंदौर से सड़क मार्ग से बागली होते हुए देवास जिले के आखिरी छोर संदलपुर पहुंचे. हालांकि यह निजी कार्यक्रम था जिसकी जानकारी स्थानीय लोगों को नहीं थी. वो यहां अपनी संस्था की तरफ से किए गए फंड का काम देखने पहुंचे थे.

आज अगर पिता होते
संदलपुर के पास परिवार एजुकेशन सोसायटी नाम का NGO अपनी बिल्डिंग बना रहा है. इसी का काम देखने सचिन तेंदुलकर यहां आए थे. बताया जा रहा है कि इसके लिए सचिन तेंदुलकर की संस्था ने भी फंड दिया है. उसी की जानकारी लेने सचिन यहां पहुंचे थे. बाद में मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा मेरे पिता की इच्छा थी कि मैं कुछ फंड एजुकेशन के लिए दूं. उसी के लिए फंड दिया था और अब यहां हो रहे काम की जानकारी लेने आया था. सचिन ने कहा अगर आज मेरे पिता होते तो बहुत अच्छा होता.

ये भी पढ़ें- ड्यूटी से वक्त मिलते ही चौराहे पर कसरत करते हैं ये TI, बोले-सेहत के लिए कोई बहाना नहीं

2300 स्टूडेंट के लिए फंड
सचिन तेंदुलकर ने बताया कि उनकी संस्था ने 2300 स्टूडेंट की पढ़ाई के लिए फंड दिया है. उनके पिता भी यही चाहते थे कि मैं ऐसा ही कुछ करूं.

काफिला चला गया….
क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले महान खिलाड़ी, भारत रत्न सम्मानित सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का अचानक बागली होते हुए संदलपुर आना सबको चौंका गया साथ ही खुशी भी दे गया. उनके साथ भारी सुरक्षा बल था. लेकिन इसकी खबर किसी को नहीं लगी. खबर लगने तक सचिन का काफिला रवाना हो चुका था.

Tags: Dewas News, Madhya pradesh news, Sachin tendulkar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर