मानवता शर्मसार: अंजान शव को लेने नहीं आया कोई, जानिए फिर क्या किया उसके साथ

मप्र के देवास जिले से आई ये तस्वीर बताती है कि हम संवेदनहीन हो गए हैं.

मप्र के देवास जिले से आई ये तस्वीर बताती है कि हम संवेदनहीन हो गए हैं.

मानवता शर्मसार: मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले से शर्मनास तस्वीर सामने आई. जिले के सोनकच्छ में नगर परिषद के कर्मचारियों को शव वाहन नहीं मिला तो वे कचरा उठाने वाली गाड़ी में शव ले गए.

  • Last Updated: May 23, 2021, 10:51 AM IST
  • Share this:

देवास. मध्य प्रदेश के देवास जिले के सोनकच्छ में मानवता को शर्मसार कर देने वाली तस्वीर सामने आई है. ये तस्वीर सोनकच्छ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की है. यहां सफाई कर्मचारी शव को कचरा फेंकने वाली ट्रॉली में ले जा रहे हैं. मामला तूल पकड़े, इससे पहले ही CMO ने तत्काल कार्रवाई की और कर्मचारी को पद से हटा दिया.

मानवता को शर्मसार कर देने वाली ये तस्वीर वायरल हो रही है. लापरवाही की हद तब हो गई जब शव उठाने वाले नगर परिषद के कर्मचारियों के पास कोई सुरक्षा किट भी नहीं थी. इस मामले पर CMO से पूछा गया तो उन्होंने कर्मचारी को पद से हटाने की बात कही. उन्होंने कहा कि साक्ष्यों के आधार पर और भी जांच की जाएगी. सभी दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

जंगल में लटका मिला था शव

जानकारी के मुताबिक, पुलिस को सूचना मिली थी कि रोलू पिपलिया के जंगल में एक युवक का शव नीम के पेड़ पर लटक रहा है. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की. जांच में पता चला कि युवक छिंदवाड़ा जिले का है. इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सोनकच्छ के स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया. शव की शिनाख्त हो सके इसलिए इस मामले की सूचना छिंदवाड़ा पुलिस को भी दी गई. लेकिन मृतक की शिनाख्त नहीं हो पाई.
अंतिम संस्कार के लिए कोई नहीं पहुंचा

लंबा इंतजार करने के बाद भी जब शव के अंतिम संस्कार के लिए कोई नही आया तो स्वास्थ्य केंद्र से शव को दफनाने के लिए भेज दिया गया. यहां शव को ले जाने के लिए शव वाहन नहीं था. इस वजह से उसे कचरा ढोने वाली गाड़ी में ले जाया गया. बता दें, सोनकच्छ में समाजसेवियों की अतिरिक्त परिषद द्वारा शव वाहन किराए पर लिया गया है, लेकिन उसका भी इस्तेमाल नहीं किया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज