धार में थर्ड जेडरों ने आगे आकर लगवाया कोरोना वैक्सीन, लोगों से भी टीका लेने की कर रहे अपील

थर्ड जेंडरों ने कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद खुशी जाहिर की, और इससे किसी तरह की समस्या नहीं होने की बात कही

थर्ड जेंडरों ने कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद खुशी जाहिर की, और इससे किसी तरह की समस्या नहीं होने की बात कही

धार (Dhar) के कांति पैलेस में लगाए गए वैक्सीन शिविर में दस से ज्यादा थर्ड जेंडर ने पहुंच कर कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगवाया. टीका लगवाने के बाद इनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. अब यह अन्य लोगों को भी वैक्सीन लगवाने के लिये प्रेरित और जागरुक कर रहे हैं. इनका कहना है कि वैक्सीन लगवाने से कोई नुकसान नहीं है, सभी को वैक्सीन लगवाना चाहिये तभी हम कोरोना वायरस (Corona Vaccine) से जीत पाएंगे

  • Share this:

धार. कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिये जहां शासन-प्रशासन तमाम तरह से लोगों को जागरुक और प्रेरित कर रहा है. वहीं, मध्य प्रदेश के धार (Dhar) में थर्ड जेंडर अपनी मर्जी से आगे आकर वैक्सीन लगवा रहे हैं. साथ ही अन्य लोगों को भी टीका लगवाने के लिये जागरुक कर रहे हैं. थर्ड जेंडर (Third Gender) ने जिले के कलेक्टर आलोक कुमार सिंह से मिलकर कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगवाने की इच्छा जताई. कुछ थर्ड जेंडर के पास आधार कार्ड (Aadhar Card) नहीं होने के कारण उन्हें वैक्सीन नहीं लग पा रहा था, इसे लेकर वो कलेक्टर से मिले और अपनी बात रखी. कलेक्टर की पहल पर इनका आधार कार्ड बनवाया गया जिससे इन्हें वैक्सीन लगने की राह आसान हो गई.

धार के कांति पैलेस में लगाए गए वैक्सीन शिविर में दस से ज्यादा थर्ड जेंडर ने पहुंच कर कोरोना वैक्सीन लगवाया. टीका लगवाने के बाद इनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. अब यह अन्य लोगों को भी वैक्सीन लगवाने के लिये प्रेरित और जागरुक कर रहे हैं. इनका कहना है कि वैक्सीन लगवाने से कोई नुकसान नहीं है, सभी को वैक्सीन लगवाना चाहिये तभी हम कोरोना वायरस से जीत पाएंगे.

वहीं, कलेक्टर आलोक कुमार सिंह का कहना है कि इनकी जो भी मदद होगी जिला प्रशासन करेगा. यह खुद आगे आकर वैक्सीन लगवा रहे हैं जो बहुत अच्छी बात है. थर्ड जेंडर का सभी जगहों पर आना-जाना रहता है इसलिये जिला प्रशासन इनके माध्यम से लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिये जागरुक करेगा

शहरी इलाकों में कोरोना वैक्सीन को लेकर जागरुकता देखी जा रही है और लोग वैक्सीन लगवाने आगे आ रहे हैं. लेकिन दूर-दराज और ग्रामीण क्षेत्रों में लोग वैक्सीन लगवाने में या तो हिचकिचा रहे हैं या फिर इनकार करते हैं. ऐसे में यहां थर्ड जेंडर का खुद आगे आकर कोरोना वैक्सीन लगवाना निश्चित ही सराहनीय कदम है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज