होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /‘जयस’ उतारेगी 80 सीटों पर प्रत्याशी, बढ़ सकती हैं कांग्रेस की मुश्किलें

‘जयस’ उतारेगी 80 सीटों पर प्रत्याशी, बढ़ सकती हैं कांग्रेस की मुश्किलें

जयस के राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा

जयस के राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा

जयस के राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा ने मध्यप्रदेश की 80 सीटों पर जयस उम्मीदवार उतारने की घोषणा करते हुए “अबकी बार आद ...अधिक पढ़ें

    मध्य प्रदेश की राजनीति में हाल ही में आई जय आदिवासी युवा संगठन ( जयस ) पार्टी ने प्रदेश के 80 सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान किया है. ऐसे में माना जा रहा है कि जयस का यह कदम कांग्रेस और बीजेपी का खेल बिगाड़ सकता है. जयस के राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा ने मध्यप्रदेश की 80 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की घोषणा करते हुए 'अबकी बार आदिवासी सरकार' का नारा दिया है.

    धार, झाबुआ, अलीराजपुर जैसे आदिवासी बहुल जिले जय आदिवासी युवा संगठन का गढ़ माने जाते हैं.  जयस का गठन आदिवासी समाज के लोगों का कल्याण करने के लिए किया गया था. यह संगठन आदिवासियों को न्याय और उनका हक दिलाने के लिए पिछले कई वर्षों काम करता आ रहा था. बाद में जब जयस पर कांग्रेस के नेताओंं की नजर पड़ी और उन्होंने जयस संगठन को अपने साथ लेकर बीजेपी सरकार के खिलाफ माहौल बनाना शुरू कर दिया. कांग्रेस के नेताओं ने जयस के साथ मिलकर बीजेपी सरकार को आदिवासियों का विरोधी बताने का काम किया.

    विधानसभा चुनाव से ठीक पहले जयस के अकेले 80 सीटों पर चुनाव लड़ने के फैसले ने कांग्रेस में हलचल मचा दी है. जयस ने अलग राजनीतिक पार्टी बनाकर मध्य प्रदेश की 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा कर दी है. इसके बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों दी पार्टियोंं के आला नेता जयस के नेताओं से साठगांठ करने में लग गए हैं.

    चुनाव की तैयारियों में जुटे जयस कार्यकर्ता घर-घर जाकर प्रति व्यक्ति एक किलो अनाज के साथ ही दस रुपए चंदा मांग रहे हैं. साथ ही ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में जाकर प्रचार भी करने लगे हैं. माना जा रहा है कि जयस के अकेले चुनाव लड़ने के फैसले से सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस को होगा, क्योंकि इससे जुड़े कार्यकर्ताओं में कांग्रेस के नेता ज्यादा थे. हालाकि कांग्रेस के आला नेता जयस के नेताओं को साधने में लगे हुए हैं, लेकिन अभी तक कोई बात नहींं बन पाई है.

    यह भी पढ़ें- # विधानसभा चुनाव : बहनजी की पार्टी के नेताओं के सिर चकराए हुए हैं

    Tags: Assembly Elections 2018, Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें