मर चुके लोगों के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले डॉक्टर और वकील समेत 10 गिरफ्तार

धार पुलिस ने एक शातिर ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है जो मर चुके लोगों के नाम पर बीमा कंपनियों से करोड़ों रुपए की ठगी करता था. इस गिरोह में शामिल डॉक्टर और वकील समेत 10 लोग गिरफ्तार किए गए हैं.

Naveen Mehar | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 6, 2019, 10:23 PM IST
मर चुके लोगों के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले डॉक्टर और वकील समेत 10 गिरफ्तार
ठग गिरोह के गिरफ्तार सदस्यों में शामिल हैं डॉक्टर और वकील भी
Naveen Mehar | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 6, 2019, 10:23 PM IST
धार पुलिस ने एक शातिर ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है. यह गिरोह मृत व्यक्तियों के नाम पर बीमा कंपनियों से करोड़ों की ठगी कर चुका है. शिकायत के बाद पुलिस ने इस गिरोह का पर्दाफाश किया है और गिरोह के 10 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. जिनमें डॉक्टर और वकील जैसे रसूखदार लोग भी शामिल हैं. दरअसल, गिरोह के शातिर सदस्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों का ऑनलाइन बीमा करवाकर उनकी सड़क हादसें मे मौत होना दर्शाते थे और बीमा कंपनियों को सड़क हादसे में उनकी मौत होना बताकर कंपनियों से मोटी राशि वसूलने का काम करते थे.

फर्जी दुर्घटना का होता था फर्जी पोस्टमार्टम भी 

इसमें डॉक्टर, वकील, पुलिस जैसे रसूखदार लोग भी शामिल थे. यह गिरोह ग्रामीण क्षेत्र में कैंसर, टीबी, किडनी से पीड़ित मरीजों को चिन्हित करके उनका बड़ा बीमा करवाकर उनकी स्वभाविक मौत होने के बाद झूठे एक्सीडेंट की घटना बताकर पुलिस से मिलकर उसकी फर्जी एफआईआर लिखवाते थे और इसके बाद वे डॉक्टरों से फर्जी पोस्टमार्टम करवाकर मृत व्यक्ति के नाम से बीमा क्लेम प्राप्त करते थे. यह धंधा लंबे समय से चल रहा था.

धार, झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी में सक्रिय था गिरोह

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभी तक यह गिरोह कई बीमार व्यक्तियों की मौत को एक्सीडेंटल बताकर बीमा कंपनियों को करोड़ों का चूना लगा चुका है. यह गिरोह धार, झाबुआ, अलीराजपुर, बडवानी, में सक्रिय था. वही पुलिस ने दस आरोपियो नितिन अगल्चा, महेश सिर्वी, लक्ष्मण सिर्वी, प्रकाश सिर्वी, मनोज सिर्वी, डॉ. नितिन वाघेला , मुन्ना भील, संतोष सिर्वी , भगवान सिर्वी और जीवन सिर्वी को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार किए गए आरोपियो में से नितिन वाघेला डॉक्टर है जो कि ग्राम बाग के शासकीय अस्पताल में पदस्थ था. वही नितिन अगल्चा वकील है. पुलिस अब पकडे गये सभी आरोपियो से सख्ती से पूछताछ कर रही है.

ये भी पढ़ें- राज्यपाल आनंदीबेन ने सुनाई रोज 16 किमी. पैदल चलने की कहानी
'किडनैपिंग की घटनाओं के लिए लड़कियों की आज़ादी जिम्मेदार'
First published: July 6, 2019, 10:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...