होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

सांप्रदायिक सद्भाव की अनूठी मिसाल! मोहर्रम के जुलूस में जब सुनाई दिया 'यदा-यदा ही धर्मस्य..., देखें VIDEO

सांप्रदायिक सद्भाव की अनूठी मिसाल! मोहर्रम के जुलूस में जब सुनाई दिया 'यदा-यदा ही धर्मस्य..., देखें VIDEO

Dhar News: धार के गुणावद गांव में मोहर्रम के जुलूस में गीता के श्लोक और देशभक्ति गीत गाए गए...

Dhar News: धार के गुणावद गांव में मोहर्रम के जुलूस में गीता के श्लोक और देशभक्ति गीत गाए गए...

Dhar Latest News: मध्य प्रदेश के धार जिले के गुणावद गांव में मोहर्रम के जुलूस में सांप्रदायिक सद्भाव की अनूठी मिसाल नजर आई. जुलूस में भगवत गीता के श्लोक से लेकर देशभक्ति के गीत गाए गए. जुलूस में मुस्लिम लोगों के साथ ही बड़ी संख्या हिंदु संप्रदाय के लोग भी शामिल हुए. जुलूस में कव्वाली ने 'यदा यदा ही धर्मस्य...' के अलावा भजन भी गाये गए.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मोहर्रम के जुलूस में कव्वालों ने गाया 'यदा-यदा ही धर्मस्य...'
जुलूस में दिखी सांप्रदायिक सद्भाव की अनूठी मिसाल

धार. मध्य प्रदेश के धार जिले के गुणावद गांव में मोहर्रम के जुलूस में बुधवार को सांप्रदायिक सद्भाव की अनूठी मिसाल देखने को मिली. जुलूस में महाभारत का टाइटल सांग ‘यदा-यदा ही धर्मस्य…’ सुनाई दिया. सोशल मीडिया यह वीडियो वायरल हो रहा है. धार जिले का एक छोटा सा ग्राम गुणावद को सांप्रदायिक सद्भाव के लिये जाना जाता है. यहां हिंदू-मुस्लिम एकदूसरे के साथ प्रेमपूर्वक रहते हैं और दोनों के त्योहार भी धूमधाम से एकसाथ मनाते हैं. मोहर्रम के पर्व पर मुस्लिम समाज द्वारा ताजिये गांव के बाजार से निकाले गए. सबसे खास बात यह रही है कि इस जुलूस में मुस्लिम लोगों के साथ ही हिंदू भी शामिल हुए.
जुलूस में कव्वाली के साथ ही महाभारत का टाइटल सांग ‘यदा यदा ही धर्मस्य…’ भी गाया . भजन भी गाये गए. साथ ही तिरंगा झंडा भी लोगों के हाथों में दिखाई दिया.

जाकिर का कहना है कि गांव मे बरसों से हिंदू-मुस्लिम समाज के लोग एकदूसरे के त्योहार मिलकर धूमधाम से मनाते हैं. गांव में किसी के यहां कोई शादी-ब्याह या अन्य काम भी होता है तो मिलकर ही सभी लोग सहयोग करते हैं. मोहर्रम के त्योहार में तो कव्वालों ने हिंदू भाईयों की संख्या काफी मात्रा में देखकर जुलूस के दौरान भजन भी गाये. तिरंगा भी लोगों के हाथों में दिखाई दिया. हिंदू समाज के लोगों का कहना है कि उनके गांव में सांप्रदायिक सद्भाव की यह अनूठी मिसाल है. ऐसे ही सभी धर्म के लोगों को मिलजुलकर प्रेम से रहना चाहिए.

Tags: Dhar news, Mp news, Trending news

अगली ख़बर