अपना शहर चुनें

States

डिंडोरी में बैगा जनजाति की अनोखी शादी, लंबे इंतजार के बाद प्रेमी जोड़े ने की शादी

मध्य प्रदेश के डिंडोरी में बैगा जनजाति का एक प्रेमी जोड़े ने लंबे इंतजार के बाद 14 फरवरी यानी वेलेंटाइन डे के दिन शादी के बंधन में बंध गए हैं। बैगा जनजाति की युवतियों को अपने समाज में अपनी पसंद का वर चुनने की पुरानी परंपरा है।
मध्य प्रदेश के डिंडोरी में बैगा जनजाति का एक प्रेमी जोड़े ने लंबे इंतजार के बाद 14 फरवरी यानी वेलेंटाइन डे के दिन शादी के बंधन में बंध गए हैं। बैगा जनजाति की युवतियों को अपने समाज में अपनी पसंद का वर चुनने की पुरानी परंपरा है।

मध्य प्रदेश के डिंडोरी में बैगा जनजाति का एक प्रेमी जोड़े ने लंबे इंतजार के बाद 14 फरवरी यानी वेलेंटाइन डे के दिन शादी के बंधन में बंध गए हैं। बैगा जनजाति की युवतियों को अपने समाज में अपनी पसंद का वर चुनने की पुरानी परंपरा है।

  • Share this:
मध्य प्रदेश के डिंडोरी में बैगा जनजाति का एक प्रेमी जोड़े ने लंबे इंतजार के बाद 14 फरवरी यानी वेलेंटाइन डे के दिन शादी के बंधन में बंध गए हैं। बैगा जनजाति की युवतियों को अपने समाज में अपनी पसंद का वर चुनने की पुरानी परंपरा है।

यहां ऐसी परंपरा है कि अगर किसी युवती को कोई शादीशुदा युवक पसंद आ जाए, तो दोबारा शादी कराई जाती है। इस युवती ने कुंवारे युवक से शादी करने का फैसला लिया, जिसकी शादी वेलेंटाइन डे के दिन बड़े ही धूमधाम से कराई गई। बताया जा रहा है कि युवती को अपने ही समाज के इस युवक रमनु से प्यार हो गया था। दुल्हे रमनु ने बताया कि युवती दीपावली के समय ही अपने पिता का घर छोड़कर उसके के घर में रहने लगी थी।

जानकार डॉ. विजय चौरसिया की मानें तो आदिवासी क्षेत्र के इस बैगा जनजाति में विवाह छह प्रकार के होते हैं। जिनमें मंगनी विवाह, पैठुल विवाह, चोर विवाह, उठवा विवाह, उधरिया विवाह, लमसेना विवाह प्रमुख हैं। रमनु की शादी की गिनती पैठुल विवाह के तहत की जा रही है। पैठुल विवाह में कुंवारी युवती अपने पसंद के युवक के घर पिछले दरवाजे से जाती है और युवक के ऊपर चावल छिड़कती है। इससे यह समझा जाता है कि युवती इसी युवक से शादी करेगी।



दूल्हे के पिता फागू ने बताया कि युवती उसके बेटे को पसंद करती थी जिसके बाद लड़की दीपावली के दिन से लड़के के घर पर आकर रहने लगी और कभी घर से बाहर नहीं निकली। इन दोनों की शादी चार माह बाद कल यानी वैलेंटाइन डे के दिन करा दी गई।
ऐसी शादी से पहले युवक के परिजन युवती के परिजनों को संदेश भिजवाते हैं और युवती के परिजन युवक के घर आकर शादी की तारीख तय करते हैं। इसके बाद युवती के पिता युवक से उसकी हैसियत के हिसाब से पैसे मांगते हैं और पैसे मिल जाने के बाद युवक और युवती दोनों की शादी करा दी जाती है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज