अपना शहर चुनें

States

स्कूल से 10 कदम दूर मैखाना, शराबियों के हुडदंग से बच्चे और शिक्षक परेशान

सरकारी स्कूल के ठीक पीछे धड़ल्ले से चल रही है शराब की दुकान, शासन-प्रशासन मौन

  • Share this:
मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले में प्रशासन की अनदेखी का बड़ा ममला सामने आया है. जिले की शहपुरा तहसील मुख्यालय में सरकारी स्कूल के ठीक पीछे धड़ल्ले से शराब की दुकान चल रही है और शासन-प्रशासन आंख मूंदे बैठा है. नियम के मुताबिक स्कूल से 200 मीटर की दूरी में शराब की दुकान का संचालन नहीं किया जा सकता है, जिसके लिए हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को बाकायदा दिशा -निर्देश जारी किया था. लेकिन यहां सरेआम हाईकोर्ट के निर्देशों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं.

शराब की दुकान की स्कूल से दूरी 10 मीटर से भी कम है.  स्कूल के इतने पास शराब की दुकान होने के कारण बच्चों की पढाई तो प्रभावित हो ही रही है साथ ही साथ बच्चों की सुरक्षा के साथ भी खिलवाड़ हो रहा है. शराबी नशे की हालत में कई बार हंगामा करते-करते स्कूल के अंदर भी आ जाते हैं. जिसको लेकर बच्चों के परिजन और शिक्षक चिंतित हैं.

रसूख के सामने प्रशासन मौन



बताया जा रहा है कि जिस भवन में किराये से शराब की दुकान का संचालन किया जा रहा है वह नगर परिषद अध्यक्ष राजेश गुप्ता की है. परषिद अध्यक्ष के रसूख के आगे प्रशासन कार्रवाई करने से कतरा रहा है. स्कूल में पदस्थ शिक्षक राधेश्याम साहू ने बताया कि स्कूल के पीछे हमेशा शराबियों का जमघट लगा रहता है और कभी कभार तो शराब के नशे में धुत्त होकर शराबी स्कूल परिसर के अंदर तक घुस आते हैं.
एसडीएम से भी कर चुके हैं शिकायत-

शिक्षक राधेश्याम साहू ने बताया  कि स्कूल के पास से शराब की दुकान को हटाये जाने को लेकर स्कूल प्रबंधन ने एसडीएम से शिकायत भी की. लेकिन डेढ़ साल गुजर जाने के बाद भी प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाए. वहीं न्यूज18 द्धारा मामला प्रकाशित और प्रसारित किए जाने के बाद स्थानीय विधायक भूपेंद्र मरावी ने स्कूल के पास से शराब दुकान जल्द ही हटावाने का भरोसा दिया हैं.
ये भी पढ़ें-निजी कॉलेजों में वेटनरी कोर्स को मान्यता देने की तैयारी में सरकार

समाधि लेकर प्राण त्यागने का ‘संत’ ने किया दावा, सांसे नहीं रुकी तो लगे नारे- ढोंगी है बाबा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज