अपना शहर चुनें

States

करंजिया जनपद पंचायत अध्‍यक्ष व सदस्‍य करेंगे आमरण अनशन

कलेक्‍टर कार्यालय डिंडौरी में मीडिया से चर्चा करते हुए अंबेश्‍वरी परस्‍ते व अन्‍य जनपद सदस्‍य.
कलेक्‍टर कार्यालय डिंडौरी में मीडिया से चर्चा करते हुए अंबेश्‍वरी परस्‍ते व अन्‍य जनपद सदस्‍य.

दरअसल करंजिया जनपद पंचायत में अध्यक्ष पद के लिए दो महिलाओं के बीच विवाद चल रहा है और इसी विवाद के चक्कर में पूर्व जनपद अध्यक्ष रंजीता परस्ते ने जनपद सीईओ आरके पालनपुरे की सार्वजनिक रूप से पिटाई कर दी थी.

  • Share this:
मध्‍यप्रदेश के डिंडौरी जिले की करंजिया जनपद पंचायत में सीईओ की पिटाई से शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. जनपद पंचायत में मचे घमासान के कारण पिछले 9 महीने से सरकार की सभी जनकल्याणकारी योजनाओं सहित विकास कार्य ठप पड़ा हुआ है. हैरत की बात तो यह है कि जिले के जवाबदार अधिकारी मामले में चुप्पी साधे हुए हैं, जिसे लेकर नवनिर्वाचित जनपद अध्यक्ष सहित सभी सदस्यों ने आमरण अनशन करने का निर्णय लिया है.

दरअसल करंजिया जनपद पंचायत में अध्यक्ष पद के लिए दो महिलाओं के बीच विवाद चल रहा है और इसी विवाद के चक्कर में पूर्व जनपद अध्यक्ष रंजीता परस्ते ने जनपद सीईओ आरके पालनपुरे की सार्वजनिक रूप से पिटाई कर दी थी. आपको बता दें कि रंजीता परस्ते करंजिया जनपद पंचायत में अध्यक्ष के पद पर ढाई वर्षों तक आसीन रही हैं. करीब 9 महीने पहले अध्यक्ष रंजीता परस्ते के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित कर सदस्यों ने अम्बेश्वरी परस्ते को अध्यक्ष पद के लिए चुन लिया था.

इसके बाद से जनपद पंचायत करंजिया में अधिकारी बैठक लेने से कतरा रहे हैं. इसके चलते जनपद पंचायत क्षेत्र में कोई भी विकास कार्य नहीं हो पा रहे हैं और न ही सरकारी जनकल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन हो पा रहा है. नवनिर्वाचित जनपद अध्यक्ष सहित सभी जनपद सदस्य कलेक्‍टर व अन्‍य सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटते-काटते थक गये हैं और उन्होंने अब आमरण अनशन शुरू करने का निर्णय लिया है.



यह भी पढ़ें-  करंजिया थाना पुलिस ने पकड़ा 133 किलो गांजा, सात गिरफ्तार
यह भी पढ़ें-  डिंडौरी जिले में प्रवेश कर के नाम पर नगर पंचायत द्धारा वाहन चालकों से अवैध वसूली

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज