स्कूल में तैयार हो रही हैं साइकिलें, छात्र-छात्राएं इस वजह से हैं परेशान

डिंडौरी जिले में "स्कूल चलें हम" अभियान के तहत साइकिल वितरण के चक्कर में छात्र-छात्राएं इन दिनों एक खास वजह से परेशान हैं.

Vijay tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 10:28 PM IST
स्कूल में तैयार हो रही हैं साइकिलें, छात्र-छात्राएं इस वजह से हैं परेशान
स्कूल परिसर में खुले में बिखरे साइकिल के पार्ट पुर्जे
Vijay tiwari | News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 10:28 PM IST
मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल डिंडौरी जिले में "स्कूल चलें हम" अभियान के तहत साइकिल वितरण योजना में शिक्षा विभाग के अफसरों की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है. मामला जिले के मेंहदवानी विकासखंड मुख्यालय का है, जहां उत्कृष्ट विद्यालय के खेल परिसर एवं शौचालयों पर साइकिल बनाने वाले ठेकेदार के गुर्गों ने अपना कब्ज़ा जमा लिया है. इस वजह से छात्र- छात्राएं न खेल पा रहे हैं और न ही शौचालयों का उपयोग कर पा रहे हैं.

शौचालयों पर ठेकेदार के गुर्गों ने जमा लिया है कब्जा. छात्र-छात्राओं को हो रही भारी परेशानी


खेल के मैदान एवं शौचालयों में साइकिल पार्ट्स का भंडार लगा हुआ है, लिहाजा शौच के लिए छात्रों को बाहर जाना पड़ता है. एक महीने से स्कूल के खेल परिसर में खुले आसमान के नीचे सैकड़ों साइकिलें रखी हुई हैं. बारिश के कारण जहां साइकिलें खराब हो रही हैं, वहीं साइकिल बनाने वाले ठेकेदार के 6 कर्मचारियों को रहने के लिए स्कूल का एक कमरा उपलब्ध कराया गया है. लापरवाही उजागर होने के बाद अब जवाबहेर अधिकारी मामले से अंजान बनते हुए नजर आ रहे हैं. शिक्षा समिति के जिलाध्यक्ष गंगा पट्टा ने शिक्षा विभाग के अफसरों को आड़े हाथ लेते हुए बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं पर जमकर निशाना साधा है.
स्कूल के प्राचार्य एच.एस. मसराम खुद स्वीकार कर रहे हैं कि स्कूल परिसर में साइकिल तैयार करने की वजह से छात्रों की पढ़ाई, खेल सहित अन्य गतिविधियां प्रभावित हो रही हैं लेकिन वरिष्ठ अफसरों के फरमान के आगे वो बेबस दिखाई दे रहे हैं. प्राचार्य ने बताया कि एक महीने से साइकिल खुले आसमान के नीचे रखी हुई हैं जो बारिश में खराब हो रही हैं और शिक्षण सत्र शुरू हुए करीब डेढ़ महीने गुजरने के बाद भी छात्रों को साइकिल वितरण नहीं हो पाया है जिसके कारण दूरदराज के छात्रों को पैदल ही स्कूल आना पड़ रहा है.

इस स्कूल परिसर में छात्रों को हो रही भारी परेशानी


जिस उत्कृष्ट विद्यालय में साइकिल का भंडार लगा हुआ है उससे विकासखंड शिक्षाधिकारी कार्यालय की दूरी बमुश्किल दस मीटर होगी लेकिन साहब को नहीं पता कि स्कूल के शौचालय में साइकिल पार्ट्स रखे होने के कारण छात्रों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

ये भी पढ़ें- देखें कैसे 8 सेकेंड में ध्वस्त हुई दो साल में बनी बिल्डिंग
Loading...

सड़क मरम्मत के नाम पर हुआ 4 करोड़ का घोटाला, जांच शुरू

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए डिंडोरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 10:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...