होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

मध्य प्रदेश में मृतकों को भी दी जा रही है पेंशन, 1 साल में 2 करोड़ की राशि कराई खातों में जमा

मध्य प्रदेश में मृतकों को भी दी जा रही है पेंशन, 1 साल में 2 करोड़ की राशि कराई खातों में जमा

एमपी में पेंशन घोटाला: डिंडोरी के अकेले करंजिया जनपद की 42 ग्राम पंचायतों में 665 पेंशनधारी मृत पाये गए हैं.

एमपी में पेंशन घोटाला: डिंडोरी के अकेले करंजिया जनपद की 42 ग्राम पंचायतों में 665 पेंशनधारी मृत पाये गए हैं.

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार मृतकों को दे रही पेंशन: मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले में सरकार की पेंशन योजना में बड़ा घोटाला (Scam in pension scheme) सामने आया है. यहां बीते एक साल से मृत लोगों को भी योजना के तहत पेंशन दी जा रही है. एक साल में यहां हजारों मृतक पेंशनधारियों (Deceased pensioners) के खातों में करीब दो करोड़ रुपये की राशी जमा कराई जा चुकी है. मामले का खुलासा होने के बाद अब प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. पढ़ें क्या है पूरा मामला.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले में सामने आया बड़ा पेंशन घोटाला
भौतिक सत्यापन में सामने आई हकीकत तो प्रशासन में मचा हड़कंप

डिंडौरी. मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य डिंडोरी जिले में मृतकों को पेंशन (Pension) योजना की राशि दिये जाने का हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां बीते एक साल में हजारों मृतक पेंशनधारियों (Deceased pensioners) के खातों में करीब 2 करोड़ रुपये की राशि जमा कराई जा चुकी है. अब मामला खुला तो अधिकारी एक दूसरे के सिर पर ठीकरा फोड़ रहे हैं. इस मामले को लेकर हड़कंप मचने के बाद अब ग्राम पंचायतों के सचिवों को 7 दिन के अंदर यह राशि वापस जमा करने का फरमान जारी किया गया है.

दरअसल सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण संचालनालय विभाग भोपाल की ओर से डिंडोरी जिले के सभी पेंशनधारियों का भौतिक सत्यापन कराया गया है. इसमें सैंकड़ों ऐसे पेंशनधारी पाये गये हैं जिनकी मृत्यु हो चुकी है और उनको पेंशन जारी की जा रही है. भौतिक सत्यापन में सैंकड़ों की तादात में मृत हितग्राहियों को पेंशन योजना की राशि जारी किये जाने के खुलासे के बाद प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है.

7 दिन के अंदर राशि जमा करने का फरमान जारी
जानकारी के मुताबिक अब करीब दो करोड़ रुपये की राशि मृत हितग्राहियों के बैंक खातों में जमा कराई जा चुकी है. उसकी वसूली के लिए अब सामाजिक न्याय विभाग भोपाल की ओर से आदेश जारी किये गए हैं. उसी आदेश के आधार पर जिले के जिम्मेदारों ने ग्राम पंचायतों के सचिवों को 7 दिन के अंदर राशि जमा करने का फरमान जारी किया है.

अकेले करंजिया जनपद में ही 665 पेंशनधारी मृत पाये गए हैं
अकेले करंजिया जनपद की 42 ग्राम पंचायतों में 665 पेंशनधारी मृत पाये गए हैं. उनके बैंक खातों में पिछले एक साल से बाकायदा पेंशन योजना की राशि जमा कराई जा रही थी. जनपद करंजिया के ग्राम पंचायतों में मृत पेंशनधारियों के बैंक खातों में जमा राशि का आंकड़ा 43 लाख 2 हजार रुपये है. अगर जिले के सभी ग्राम पंचायतों की बात की जाए तो मृत पेंशनधारियों की तादात काफी अधिक है. उसकी राशि करीब 2 करोड़ रुपये है.

मृत पेंशनधारियों के परिजन बोले खाता बंद करवा दिया गया था
मृत पेंशनधारियों के परिजनों से जब इस मामले में बात की गई तो उनका कहना था कि संबंधित व्यक्ति की मृत्यु के बाद ग्राम पंचायत कार्यालय की ओर से मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किया जा चुका है. बैंक खातों को बंद करवा दिया गया था. दूसरी तरफ लापरवाही उजागर होने के बाद करंजिया जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी बीएस मरावी अपनी जिम्मेदारियों से बचते हुए गलती का ठीकरा ग्राम पंचायत के सचिवों पर फोड़ रहे हैं.

अधिकारी ने ग्राम पंचायत सचिवों के सिर फोड़ा ठीकरा
उनका कहना है की मृत पेंशनधारियों से संबंधित जानकारी ग्राम पंचायत सचिवों की तरफ से समय पर अपडेट नहीं की गई. इसके कारण ये स्थितियां पैदा हुई हैं. मृत लोगों को पेंशन योजना की राशि जारी करने के मामले में स्थानीय विधायक एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमकार मरकाम ने गुड गवर्नेंस को आड़े हाथ लेते हुए जिले के अधिकारियों और प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा है.

Tags: Chief Minister Shivraj Singh Chouhan, Madhya pradesh news, Pension scheme, Scams in MP

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर