होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Positive News : जब 9 वीं क्लास का छात्र बना 'कलेक्टर', खुशी से झूम उठे माता पिता

Positive News : जब 9 वीं क्लास का छात्र बना 'कलेक्टर', खुशी से झूम उठे माता पिता

कलेक्टर ने बच्चे को अपनी कुर्सी पर बैठाकर कार्यालय का काम समझाया.

कलेक्टर ने बच्चे को अपनी कुर्सी पर बैठाकर कार्यालय का काम समझाया.

Dindori News.मध्यप्रदेश के डिंडोरी में कलेक्टर की एक सकारात्मक पहल देखने को मिली. यहां कलेक्टर विकास मिश्रा ने नवमी कक् ...अधिक पढ़ें

डिंडोरी. डिंडोरी में नवमी कक्षा का एक छात्र खुशी से झूम उठा. जब उसे कलेक्टर विकास मिश्रा ने कलेक्टर की कुर्सी पर बैठा दिया. कलेक्टर के आमंत्रण पर नवमी का छात्र रुद्र प्रताप अपने माता-पिता के साथ कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचा था. कलेक्टर ने खुद छात्र और उसके माता-पिता का वेलकम किया. फिर अपनी कुर्सी पर बैठाया.

कई बार इस तरह की अनोखी पहल देखने को मिलती हैं. जब जिला कलेक्टर या कोई अन्य अधिकारी किसी छात्र को इस तरह का अवसर देते हैं. इस सकारात्मक पहल से बच्चों के भीतर एक नया आत्मविश्वास पैदा होता है. जिसके जरिए उनके भीतर सपनों को पाने की लालसा बढ़ जाती है. ऐसा ही कुछ डिंडोरी जिले के कलेक्टर विकास मिश्रा ने किया है. उन्होंने धनुआसागर हायर सेकेंडरी स्कूल के नवमी के विद्यार्थी रुद्र प्रताप को कलेक्ट्रेट कार्यालय आमंत्रित किया. रुद्र प्रताप अपने माता-पिता के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचा तो कलेक्टर ने खुद रुद्र और उसके माता-पिता का स्वागत किया.

माता-पिता ने गौरवांवित 
कलेक्टर विकास मिश्रा धनुआसागर हायर सेकेंडरी स्कूल का औचक निरीक्षण करने गए थे. तभी नवमी के छात्र रूद्र प्रताप ने पढ़ लिखकर कलेक्टर बनने की इच्छा जाहिर की थी. छात्र के जज्बे को देखते हुए कलेक्टर ने उसे कलेक्ट्रेट कार्यालय आने के लिए आमंत्रित किया था. यहां कलेक्टर ने रुद्रप्रताप को कुछ घंटों के लिए अपनी कुर्सी पर बैठाया. फिर कलेक्ट्रेट कार्यालय से जुड़ा कामकाज समझाने लगे. इस बीच छात्र की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. वही छात्र के माता-पिता खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- सरकारी रिकॉर्ड में मृत किसान 4 साल से दे रहा है जिंदा होने का सबूत, लेकिन सिस्टम है कि सुनता ही नहीं

" isDesktop="true" id="4969861" >

 बच्चे को मिला आत्मबल
कलेक्टर ने लगभग 14 साल के इस छात्र को कलेक्टर कार्यालय में होने वाले कार्यों के बारे में जानकारी दी. इससे छात्र के सपनों को पाने की इच्छा को बल मिला. इतना ही नहीं माता-पिता ने खुशी जाहिर करते हुए खुद को बेहद गौरवान्वित महसूस किया. कलेक्टर मिश्रा की इस पहल से बच्चे के भीतर आत्मबल बढ़ा है. इस तरह की सकारात्मक पहलों की वजह से स्कूल में पढ़ने वाले और भी छात्रों का मनोबल जरूर बड़ा होगा. इसके साथ ही रुद्र प्रताप बेहद खुश हुए.

Tags: Madhya pradesh latest news, Madhya pradesh news, Madhya Pradesh News Updates, Positive News, Positive Story

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें