होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

ड्रेस कोड : अल्पसंख्यक हैं, मंदिर में पहनकर आएं पीले और सफेद कपड़े

ड्रेस कोड : अल्पसंख्यक हैं, मंदिर में पहनकर आएं पीले और सफेद कपड़े

Demo Image

Demo Image

मध्य प्रदेश के सागर जिले में 650 वर्ष पुराने जैन मंदिर में अब श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोड लागू होगा. लड़कियों को जींस पहनकर मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. श्रद्धालुओं को मंदिर में सफेद और पीले कपड़े पहनकर आने के लिए कहा गया है.

अधिक पढ़ें ...
    मध्य प्रदेश के सागर जिले में 650 वर्ष पुराने जैन मंदिर में अब श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोड लागू होगा. लड़कियों को जींस पहनकर मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. श्रद्धालुओं को मंदिर में सफेद और पीले कपड़े पहनकर आने के लिए कहा गया है.

    जिले के काकागंज में स्थित आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं के लिए ड्रेस कोड जारी किया है. सदियों पुराने इस मंदिर में अब लड़कियां जींस पहनकर प्रवेश नहीं कर सकेंगी. उन्हें सलवार-कुर्ती या साड़ी पहनकर ही मंदिर में आना होगा.

    समिति की तरफ से ड्रेस का रंग भी तय किया गया है. श्रद्धालुओं को सफेद या पीले रंग के वस्त्र पहनकर आने की गुजारिश की गई है.

    समिति की तरफ से मंदिर के बाहर बोर्ड लगाकर नए ड्रेस कोड के बारे में जानकारी दी गई है. इस बोर्ड में लिखा है, 'वर्तमान में जैन अल्पसंख्यक हैं. श्वेत व पीले वस्त्रधारी व्यक्ति अलग से समझ में आएगा कि ये व्यक्ति जैन है एवं देव दर्शन को जा रहा है. अन्य लोग आपको प्रशंसा की दृष्टि से देखेंगे.'

    मंदिर समिति के अध्यक्ष सुनील जैन ने मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि मंदिर में श्रद्धालु शुद्ध वस्त्र पहनकर प्रवेश करें इसलिए ड्रेस कोड रखा गया है. अध्यक्ष जैन ने कहा कि किसी को आदेश नहीं दिया, बल्कि आग्रह किया है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर