लाइव टीवी

नतीजों को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री का सख्त रवैया, शिक्षकों को दी ये चेतावनी
Bhopal News in Hindi

Ranjana Dubey | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 1, 2020, 11:33 PM IST
नतीजों को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री का सख्त रवैया, शिक्षकों को दी ये चेतावनी
स्कूलों के नतीजों को लेकर मंत्री डा प्रभुराम चौधरी ने शिक्षकों को चेताया

प्रदेश के सरकारी स्कूलों के नतीजों को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी (Prabhuram choudhary) ने शिक्षकों को नसीहत दी है. उन्होंने कहा है कि बेहतर रिजल्ट की तैयारी करें और रिज़ल्ट खराब आने पर कार्रवाई के लिए तैयार रहें.

  • Share this:
भोपाल. कमलनाथ सरकार में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी शिक्षा विभाग में सुधार के लिए नए-नए फैसले ले रहे हैं वहीं अब बोर्ड परीक्षाओं (Board Exams) के साथ ही दूसरी कक्षाओं के रिजल्ट को सुधारने के लिए भी स्कूल शिक्षा मंत्री के सख्त तेवर दिखाई दे रहे हैं. स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी ने प्राचार्यो (Principal) और शिक्षकों (Teachers) को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि रिजल्ट (Result) को बेहतर बनाना आपकी जिम्मेदारी है. बेहतर रिजल्ट के लिए आप सभी को पूरी ताकत लगानी होगी. रिजल्ट बेहतर नहीं आता है तो आप सभी कड़ी कार्रवाई (Action) के लिए तैयार रहें.

अच्छा रिज़ल्ट नहीं आया तो कार्रवाई
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने प्रदेश भर के शिक्षकों औऱ प्राचार्यों से कहा कि छात्र-छात्राओं के साथ ही अब शिक्षकों की भी परफॉर्मेंस जांचने का समय आ गया है. जहां पर छात्र-छात्राएं तैयारियों में जुटे हुए हैं वहीं अब शिक्षक भी तैयारियों में पूरी तरह से जुट जाएं. उन्होंने कहा कि आप सभी शिक्षक परीक्षा के लिए पूरी तैयारी लगा दें. जिस तरह से धावक जीत के लिए अंतिम क्षण में पूरी ताकत लगा देता है, उसी तरह से आप सभी पूरी उर्जा और पूरी शक्ति लगा दें. अब आप सभी की परीक्षा की घड़ी है. बेहतर रिजल्ट देने वाले शिक्षक जहां सम्मानित होंगे वही खराब रिजल्ट देने वाले शिक्षकों को सम्मान की अपेक्षा ना रखें. अच्छा रिजल्ट नहीं लाने वाले शिक्षकों और स्कूलों पर कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी.

परीक्षा की तैयारियों को लेकर डीईओ से लिया प्रजेटेंशन

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने परीक्षा की तैयारियों को लेकर सभी जिलों के डीईओ से प्रजेंटेशन भी लिया कि किस तरह से स्कूलों में छात्र-छात्राओं की परीक्षा की तैयारियों के लिए प्लानिंग और रूपेरखा तैयार की गई है. वहीं बच्चों के तनाव को कम करने के लिए उमंग हेल्पलाइन भी शुरू की गई है. स्कूलों में बेहतर रिजल्ट के लिए प्रदेश भर के प्रिंसिपलों और शिक्षकों के 4 दौरे दक्षिण कोरिया के हो चुके हैं. वहीं दिल्ली के सरकारी स्कूलों की शिक्षा प्रणाली को भी शिक्षक और प्रिसिंपल समझ चुके हैं. इसको लेकर भी अब स्कूल शिक्षा विभाग की परीक्षा है कि आखिर कितना बदलाव दक्षिण कोरिया और दिल्ली के सरकारी स्कूलों के दौरे के बाद रिजल्ट पर दिखाई दिया.

तैयारियों में जुटे स्कूल और शिक्षक
पूर्व में स्कूलों में बेहतर रिजल्ट के लिए स्कूल शिक्षा मंत्री ने शिक्षकों की 3-4 बार परीक्षा ली थी और परीक्षा में फेल होने वाले 16 शिक्षकों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति भी दे दी गई थी. स्कूल शिक्षा मंत्री के सख्त तेवर के बाद अब स्कूलों के शिक्षक औऱ प्राचार्य अब रिजल्ट को बेहतर करने की तैयारियों में जुट गए हैं.ये भी पढ़ें -
पति ने तीन तलाक देकर ससुर के साथ हलाला का दबाव बनाया तो पत्नी ने उठाया ये कदम
CM कमलनाथ ने बजट को बताया निराशाजनक, कहा प्रदेश को हो सकता है ये बड़ा नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 11:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर