लाइव टीवी

स्वास्थ्य मंत्री ने शहडोल में हुई बच्चों की मौत की घटना की जांच के आदेश दिए

Pooja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 14, 2020, 1:35 PM IST
स्वास्थ्य मंत्री ने शहडोल में हुई बच्चों की मौत की घटना की जांच के आदेश दिए
मंत्री तुलसी सिलावट ने कोर्ट में चल रहे मामलों को लेकर भी अफसरों को दिशा निर्देश दिए

स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट (Tulsi Silawat) ने शहडोल में हुई बच्चों की मौत की घटना की जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदनाएं भी जताईं. श्री सिलावट ने इस दौरान 5 संभागों में बनने वाली खाद्य सुरक्षा विभाग (Food Safety Department) की परीक्षण लैब (Testing Lab) को लेकर चल रही तैयारियों की भी समीक्षा की

  • Share this:
भोपाल. मंगलवार को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान विभाग के मंत्री तुलसी सिलावट ने शहडोल (Shahdol) में हुई बच्चों की मौत (Child Death) की घटना के जांच के आदेश जारी कर दिए हैं. उन्होंने संबंधित कलेक्टर और सीएमएचओ को कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए. मंत्री तुलसी सिलावट ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में खाद्य और ड्रग में चल रही कार्रवाई को बेहतर और तेज़ गति से चलाने के निर्देश दिए.

न्यायालय में चल रहे प्रकरणों को अंजाम तक पहुंचाएं
मंत्री सिलावट ने कहा कि जो प्रकरण न्यायालय में गए हैं उन पर भी विभागीय अधिकारी लागातर कार्य करते हुए उसे अंजाम तक पहुंचाए. उन्होंने कहा कि प्रदेश में सबसे बेहतर काम भोपाल जिला प्रशासन के नेतृत्व में ही हो रहा है. मुख्यमंत्री ने भी इसकी तारीफ की है. उन्होंने अफसरों से कहा कि भोपाल को खाद्य सुरक्षा और ड्रग परीक्षण में नंबर वन बनाए रखें. स्वास्थ्य मंत्री सिलावट ने कहा कि सांची दूध में यूरिया की मिलावट करने वालों के खिलाफ जल्दी कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि मिलावट करने वालो के विरुद्ध सजा होने तक कार्रवाई रुके ना इस बात का भी खास ख्याल रखा जाए.

News - शहडोल में हुई बच्चों की मौत के मामले में जांच के आदेश
शहडोल में हुई बच्चों की मौत के मामले में जांच के आदेश


टेस्टिंग लैब की तैयारियों की भी समीक्षा की
मंत्री तुलसी सिलावट ने 5 संभागों में बनने वाली खाद्य सुरक्षा विभाग की परीक्षण लैब के लिए चल रही तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि लैब समय सीमा में शुरू करें जिससे खाद्य पदार्थों की जांच रिपोर्ट समय पर मिल सके. ड्रग की जांच के लिए चल रहीं कार्रवाई पर मंत्री ने सख्त आदेश दिए कि दवाई के नमूने परीक्षण की रिपोर्ट 20 दिनों आनी चाहिए. दवाई के जो नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं, उनकी जांच युद्ध स्तर पर की जाए.

मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि दुकानों के लाइसेंस समय सीमा में जारी किए जाएं, इसमे देरी नहीं होनी चाहिए. अधिकारियों को निर्देशित किया गया की इसका परीक्षण भी करें कि जिनके नाम पर लायसेंस जारी किए गए हैं, वही व्यक्ति दवाई दुकान का संचालन करे. पुराने लायसेंस के नवीनीकरण की प्रक्रिया में भी सुधार करें.ये भी पढ़ें -
शहडोल जिला अस्पताल में 12 घंटे में 6 नवजात बच्चों की मौत, अस्पताल प्रशासन ख़ामोश
2 अरब 35 करोड़ साल बाद नष्ट हो जाएगी पृथ्वी!! ये है ज्योतिषियों का दावा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 1:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर