खरगोन से युवक के लापता होने के मामले में दोस्त ही निकला सरगना
Khargone News in Hindi

खरगोन से युवक के लापता होने के मामले में दोस्त ही निकला सरगना
खरगोन पुलिस अधीक्षक कार्यालय.

मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के सेगांव से लापता युवक अजय गुप्ता की मां से 12 लाख की फिरौती मांगने के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के सेगांव से लापता युवक अजय गुप्ता की मां से 12 लाख की फिरौती मांगने के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. आरोपी लापता युवक की मां कृष्णा बाई का मददगार है. वह युवक की मां के साथ साए की तरह मौजूद रहता था.

खास बात यह है कि आरोपी अंकित भार्गव एएसपी को फिरौती की शिकायत करने पहुंचीं अजय की मां के साथ भी पूरे समय मौजूद रहा. पुलिस ने आरोपी युवक से पूछताछ के बाद सेगांव के ही दो अन्य युवकों को भी हिरासत में लिया है. हालांकि लापता युवक अजय गुप्ता का फिलहाल कोई सुराग नहीं मिला है.

गौरतलब है कि सेगांव में मोबाइल की दुकान चलाने वाले 21 वर्षीय अजय पिता दीपक गुप्ता 7 मई से लापता है. युवक की मां कृष्णा सेगांव चौकी पर अपने लापता बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी.



इस बीच कृष्णा बाई को एक अज्ञात मोबाइल नंबर से कॉल आया था. फोन करने वाले व्यक्ति ने अजय की जान बख्शने की एवज में 12 लाख रुपये की मांग की थी. इसकी शिकायत लेकर कृष्णा बाई खरगोन एसपी कार्यालय पहुंची थीं.
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंतरसिंह कनेश के निर्देश पर ऊन थाना पुलिस ने जांच करते हुए सेगांव निवासी युवक अंकित भार्गव को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो उसने 12 लाख की फिरौती मांगने की बात स्वीकार कर ली. पुलिस ने सेगांव निवासी हेमंत सोनी व रिज़वान रफीक को भी हिरासत में लिया है.

मुख्य आरोपी अंकित लापता युवक अजय का दोस्त होकर दुकान पर काम कर चुका है और अजय की मां कृष्णा बाई के साथ शिकायती पत्र देने एसपी कार्यालय भी गया था.

एएसपी अंतरसिंह कनेश का कहना है कि फिरौती मामले में जांच के दौरान अंकित संदेह के घेरे में आया था. पूछताछ बाद उसने अपना गुनाह कबूल किया कर लिया है. मामले में दो अन्य युवकों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज