Assembly Banner 2021

COVID 19 Lockdown: अब ऑनलाइन कबूल किए जा रहे निकाह, 12 जोड़े बने हमसफर

गुना में मुस्लिम समाज हर साल अप्रैल में सामूहिक निकाह सम्मेलन का आयोजन करता है लेकिन इस साल कोरोना आपदा के चलते ऐसा नहीं हो सका. (सांकेतिक फोटो)

गुना में मुस्लिम समाज हर साल अप्रैल में सामूहिक निकाह सम्मेलन का आयोजन करता है लेकिन इस साल कोरोना आपदा के चलते ऐसा नहीं हो सका. (सांकेतिक फोटो)

सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करते हुए समाज ने पूरे विधि विधान के साथ ऑनलाइन निकाह पढ़े. शहर काजी नूरुल्लाह युसूफ जई ने काजी कार्यालय में वेब केम के सामने बैठकर रीती रिवाजों का अमलीजामा पहनाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2020, 1:39 PM IST
  • Share this:
गुना. कोरोना (Corona) संक्रमण के चलते देशभर में हुआ लॉकडाउन कई कार्यक्रमों और आयोजनों के लिए भी आफत बन गया है. ऐसे में कई शादियां भी नहीं हो सकीं. अप्रैल के महीने में शादियां और निकाह दोनों ही बड़ी संख्या में होते हैं लेकिन अब देशभर में सन्नाटा पसरा हुआ है. गुना में मुस्लिम समाज हर साल अप्रैल में सामूहिक निकाह सम्मेलन का आयोजन करता है लेकिन इस साल कोरोना आपदा के चलते ऐसा नहीं हो सका. लेकिन इस आयोजन को करवाने का एक नया तरीका भी ढूंढ लिया गया.

ऑनलाइन बने हमसफर
इस दौरान समाज की ओर से ऑनलाइन निकाह का अयोजन किया गया. इस दौरान 12 जोड़ों ने एक दूसरे को हमसफर चुना. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए समाज ने पूरे विधि विधान के साथ ऑनलाइन निकाह पढ़े. शहर काजी नूरुल्लाह युसूफ जई ने काजी कार्यालय में वेब केम के सामने बैठकर रीती रिवाजों का अमलीजामा पहनाया.

बिहार में भी हुआ था ऑनलाइन निकाह
इससे पहले पटना में भी एक शादी ऑनलाइन आयोजित की गई थी. दूल्हा यूपी के गाजियाबाद में स्थित साहिबाबाद में बैठा था, वहीं दुल्हन पटना की थी. दोनों के बीच काजी ने ऑनलाइन निकाह करवाया, क्योंकि लॉकडाउन के कारण न बारात आई और न ही शादी की कोई तैयारी की जा सकी. चूंकि निकाह तय समय पर ही कराया जाना था. इसलिए वर और वधू पक्ष ने ऑनलाइन सुविधा के इस जमाने में तकनीक के सहारे शादी कराने का फैसला लिया.



गाजियाबाद से आने वाली थी बारात
पटना के समनपुरा के रहने वाले मरहूम हाजी मुहम्मद अलाउद्दीन की बेटी सादिया नसरीन का निकाह साहिबाबाद निवासी सैमुदुल हसन के बेटे दानिश रजा के साथ 23 मार्च को होना था. शादी की सारी तैयारियां हो चुकी थीं. पटना के हारून नगर में कम्युनिटी हॉल भी बुक हो चुका था. नाते-रिश्तेदारों को निमंत्रण भी जा चुका था, लेकिन कोरोना वायरस के कारण पटना में लॉकडाउन हो गया और गाजियाबाद में भी. ऐसे में दोनों परिवारों ने तकनीक के जमाने मे ऑनलाइन शादी का फैसला लिया.

ये भी पढ़ेंः MP में घरेलू हिंसा से महिलाओं को बचाने के लिए पांच शहरों में विशेष सेल का गठन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज