हादसे में बच्चे को आई चोट, नर्सिंग स्टाफ ने कहा- पहले पर्चा लाओ फिर इलाज करेंगे, यूं भटकते रहे परिजन

मध्य प्रदेश के गुना जिले में अस्पताल प्रबंधन मरीजों पर ध्यान नहीं दे रहा. यहां मरीजों को भटकना पड़ता है.

विजय जोगी. मध्य प्रदेश के गुना जिले का अस्पताल बदहाली की हालत में है. यहां मरीजों को देखने वाला कोई नहीं. नर्सिंग स्टाफ न मरीजों को ठीक से देखता है और न ही परिजनों को गाइड करता है. गंभीर मरीज भी भटकने पर मजबूर हैं.

  • Share this:
    गुना. 5 साल के बेटे को लेकर परिजन जिला अस्पताल में भटकते रहे. सिर फटने की वजह से बच्चा तड़प रहा था. लेकिन अस्पताल के स्टाफ ने तब तक इलाज शुरू नहीं किया, जब तक उसका पर्चा नहीं बन गया. अव्यवस्थाओं के चलते पर्चा बनवाने में परिजनों को एक घंटा लग गया. इस एक घंटे के बीच बच्चे का साथ कुछ भी हो सकता था.

    गुना जिला अस्पताल की हालत दयनीय है. यहां मरीजों को देखने वाला कोई नहीं. मरीज आते हैं और लाइन लगा लेते हैं. कौन-किसे-कब देखेगा, ये कोई नहीं जानता. अस्पताल का स्टाफ मनमानी करने में लगा रहता है. इस लापरवाही के वजह से एक 5 साल के बच्चे की जान पर आई. दरअसल, शनिवार दोपहर करीब 2 बजे गुना के पास सड़क हादसा हो गया.

    बच्चे को हादसे में आई गंभीर चोटें

    सड़क हादसे में मां-बेटे घायल हो गए. 5 साल के बेटे की सिर में गंभीर चोटें आईं और वो करीब-करीब बेहोश हो गया. इस हालत में परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे. यहां स्ट्रेचर रूपी ठेला रखा था, उस पर बच्चे को लेटा दिया गया. स्टाफ ने बच्चे को देखा भी, लेकिन इसके बावजूद परिजनों से कहा कि पर्चे के बिना इलाज नहीं कर पाएंगे.

    भटकते रहे परिजन

    स्टाफ ने परिजनों से कहा पहले पर्चा बनवाकर लाओ फिर इलाज करेंगे. बच्चे को वहीं ठेले पर उसी हालत में छोड़ दिया. बता दें, घबराए परिजनों को यह भी नहीं पता था कि पर्चा बनता कहां है. किसी ने गाइड नहीं किया. इन अव्यवस्थाओं के बीच परिजनों ने जैसे-तैसे 1 घंटे बाद पर्चा बनवाया और इलाज शुरू कराया.

    इंदौर में दो भाइयों की मौत

    इंदौर के चंदन नगर थाना क्षेत्र में शुक्रवार सुबह खूनी संघर्ष में दो भाइयों की हत्या कर दी गई. अवैध निर्माण को लेकर हुए इस खूनी संघर्ष की पृष्ठभूमि कल शाम ही तैयार हो गई थी. कल भी अवैध निर्माण को लेकर पड़ोसियों में झगड़ा हुआ था. मामला पुलिस तक भी पहुंचा. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत करा दिया. पर एक पक्ष ने आज सुबह अपने पड़ोसी के घर पर हमला कर दिया और दो भाइयों की हत्या कर दी.