लाइव टीवी

झाबुआ उपचुनाव में 'महाराज' की गैरहाजिरी पर महिला मंत्री का बयान, बोलीं- हाईकमान ने तय किए थे नाम

Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 20, 2019, 5:11 PM IST
झाबुआ उपचुनाव में 'महाराज' की गैरहाजिरी पर महिला मंत्री का बयान, बोलीं- हाईकमान ने तय किए थे नाम
एमपी की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी.

मध्‍य प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी ( Women and Child Development Minister Imarti Devi) ने गुना में 'सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम में शिरकत करने के दौरान ना सिर्फ झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly by-election) बल्कि कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को लेकर भी अपनी बेबाक राय रखी.

  • Share this:
गुना. मध्‍य प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री और प्रभारी मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) दो दिवसीय दौरे पर गुना पहुंची. इस दौरान उन्‍होंने सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में भी शिरकत की. जबकि इमरती देवी से पत्रकारों से बातचीत भी की. जब उनसे झाबुआ विधानसभा उपचुनाव (Jhabua Assembly by-election) को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने दावा करते हुए कहा कि चुनाव कांतिलाल भूरिया (Kantilal Bhuria) ही जीतेंगे. जबकि इस दौरान उन्‍होंने कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) को लेकर भी अपनी राय रखी.

सिंधिया को लेकर कही ये बात
झाबुआ उपचुनाव से कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया की दूरी को लेकर जब इमरती देवी से सवाल किया गया तो उन्होंने गुटबाजी की बात को नकारते हुए कहा कि झाबुआ में प्रचार के लिए दिल्ली हाईकमान द्वारा नाम तय किये गए थे. हालांकि जब उनसे जब पूछा गया कि क्या वह सिंधिया को पार्टी का स्टार प्रचारक नहीं मानती तो इमरती देवी के कुछ कहने से पहले श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने मोर्चा संभाल लिया. उन्‍होंने कहा कि 'महाराज' बड़े नेता हैं इसलिए उनकी ड्यूटी महाराष्ट्र चुनाव में लगाई गई है. गुटबाज़ी की भेंट चढ़े झाबुआ उपचुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनसे जुड़े किसी भी कैबिनेट मंत्री को प्रचार के लिए आमंत्रित नहीं किया गया है. जबकि कमलनाथ कैबिनेट के अन्य मंत्री और नेता अंतिम समय तक चुनाव प्रचार में डटे रहे.

श्रम मंत्री ने किया ये खुलासा

सम्बल योजना से जुड़े मामले में श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने खुलासा करते बताया कि प्रदेश में कुल 2 करोड़ 20 लाख श्रमिक हैं, जिसमे से 70 लाख फर्जी श्रमिक हैं और 50 लाख श्रमिकों की जांच जारी है. मंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में सम्बल योजना में फर्जीवाड़े की बात कही है. हालांकि मंत्री ने उस पैमाने के बारे में नहीं बताया जिसके तहत 70 लाख से ज्यादा श्रमिकों को फर्जी ठहराया गया है.

ये भी पढ़ें-
भोपाल के बाद इंदौर-जबलपुर को बांटने की तैयारी में कमलनाथ सरकार, BJP ने दी ये 'चेतावनी'
Loading...

दीपावली के बाद कमलनाथ सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगी BJP, ये होंगे अहम मुद्दे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 5:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...