गुना के डॉ मयंक मंगल के बारे में जानिए, जो पटियाला के ASI हरजीत सिंह का कटा हाथ जोड़ने वाली टीम में शामिल थे
Guna News in Hindi

गुना के डॉ मयंक मंगल के बारे में जानिए, जो पटियाला के ASI हरजीत सिंह का कटा हाथ जोड़ने वाली टीम में शामिल थे
पटियाला में ASI हरजीत सिंह का हाथ का ऑपरेशन करने वाली टीम में थे गुना के डॉ मयंक मंगल

पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने पर निहंग भड़क उठे थे. उन्होंने पुलिस टीम पर हमला कर एएसआई हरजीत सिंह का हाथ काट दिया.

  • Share this:
गुना.पटियाला में निहंगों के हमले में घायल एएसआई हरजीत सिंह का हाथ डॉक्टरों की जिस टीम ने जोड़ा उसमें मध्य प्रदेश के गुना ज़िले के डॉक्टर मयंक मंगल (Dr mayank mangal)  भी शामिल थे. डॉ मयंक पर पूरा प्रदेश गर्व कर रहा है और उन्हें बधाई दे रहा है.

पटियाला में कर्फ्यू पास मांगने पर निहंग भड़क उठे थे. उन्होंने पुलिस टीम पर हमला कर एएसआई हरजीत सिंह का हाथ काट दिया. उसके बाद शुरू हुई धरती के भगवान कहे जाने वाले डॉक्टर्स की अग्निपरीक्षा. चंडीगढ़ के पीजीआई में हरजीत सिंह का हाथ जोड़ने के लिए ऑपरेशन शुरू हुआ. ये ऑपरेशन साढ़े सात घंटे चला.9 डॉक्टर्स की टीम और 3 स्टाफ नर्स ने एक चैलेंज के साथ ये जटिल ऑपरेशन शुरू किया. इस टीम में गुना के रहने वाले डॉक्टर मयंक मंगल भी एक थे.

एक फोन आया और टीम तैयार
एक पुलिस अधिकारी का पीजीआई फोन आया कि पटियाला में जख्मी एएसआई हरजीत सिंह को ट्रीटमेंट के लिए पीजीआई भेजा जा रहा है. पुलिस अधिकारियो ने डॉक्टर्स को बताया कि हमले में एएसआई का हाथ कट गया है.ये जंग पुलिसवालों और डॉक्टर्स दोनों के लिए आसान नहीं थी.फौरन डॉक्टर्स की टीम बनायी गयी.
आसान नहीं था ऑपरेशन


लेकिन ये ऑपरेशन इतना आसान नहीं था.एक जरा सी चूक और उसकी कीमत भारी हो सकती थी. लेकिन डॉक्टर्स की टीम ने हार नहीं मानी. कटे हाथ का बारीकी से निरीक्षण किया.ऑपरेशन के लिए एएसआई हरजीत सिंह को ऑपरेशन थियेटर में लाया गया. वहां मरीज की जांच के बाद बड़ी सावधानी पूर्वक हाथ की नसों को जोड़ा गया.सुबह करीब 10 बजे शुरू हुआ ये ऑपरेशन शाम साढ़े पांच बजे पूरा हुआ.यानी पूरे साढ़े सात घंटे की मशक्कत और उसके बाद डॉक्टर्स ने कहा-ऑपरेशन सक्सेसफुल.डॉक्टर्स की टीम ने सफलतापूर्वक कटे हाथ को जोड़ने का करिश्मा कर दिखाया. डॉक्टर्स का कहना है कि ये हाथ कुछ दिन बाद अच्छे से काम करना शुरू कर देगा.

आखिर कौन है डॉक्टर मयंक मंगल
डॉक्टरों की टीम में शामिल डॉक्टर मयंक मंगल गुना के रहने वाले हैं. उन्होंने यहां मॉर्डन चिल्ड्रन स्कूल से पढ़ाई की. फिलहाल वो चंडीगढ़ पीजीआई में प्लास्टिक और रिकंस्ट्रक्टिव सर्जरी में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर हैं.  30 जून 2018 को अपनी सेवा दे रहे हैं.डॉक्टर मयंक ने अपने फेसबुक वॉल पर 11 अप्रेल को एक फोटो पोस्ट की थी. उसका कैप्शन था-क्वारेंटीइन ऑफ लाइफ. अपने fb स्टेटस में लिखा-
NO MATTER HOW BIG U R
WHAT DOES MATTER IS..HOW BIG YOU PLAY
वाकई उन्होंने अपने इस स्टेटस को सच कर दिखाया है. डॉक्टर मयंक मंगल को अब पुलिसवाले भी कह रहे हैं-सैल्यूट डॉक्टर साहब

डॉ मयंक को बधाई
इस ऑपरेशन के सफल होने के बाद सोशल मीडिया पर एमपी को गौरवान्वित, करने वाले डॉक्टर मयंक को ढेरों बधाई मिल रही हैं.उनकी टीम के लिए लोग तारीफों के पुल बांध रहे हैं.

क्या थी पूरी घटना
रविवार सुबह पटियाला की सन्नौर सब्जी मंडी में निहंग सब्जी खरीदने के लिए आए थे.तभी नाके पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उनसे कर्फ्यू पास मांगा. पुलिस टीम और निहंग के बीच बहस हुई और आरोपियों ने पुलिस पर हमला बोल दिया.इस हमले में 5 पुलिसकर्मी घायल हुए और एएसआई का हाथ काट दिया गया था.

ये भी पढ़ें-

जबलपुर में कोरोना वायरस से संक्रमित तीन मरीज आरोपी बनाए गए, FIR दर्ज

AIIMS ने बताया इंदौर में क्यों बिगड़े हालात और कोरोना से बचने के लिए क्या करें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading