लाइव टीवी

शरद पूर्णिमा: नेताओं की 'चुनावी खीर' पर चुनाव आयोग की नजर

Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 24, 2018, 11:58 AM IST
शरद पूर्णिमा: नेताओं की 'चुनावी खीर' पर चुनाव आयोग की नजर
File Photo

शरद पूर्णिमा के अवसर पर नेताओं की 'चुनावी खीर' पर चुनाव आयोग की नज़र रहेगी. इस बार भाजपा, कांग्रेस समेत अन्य राजनैतिक दलों के नेता चुनावी खीर नहीं बांट पाएंगे

  • Share this:
बुधवार को शरद पूर्णिमा है. इस दिन पूरे देश में यह त्यौहार अपनी अपनी मान्यताओं के अनुसार मनाया जा रहा है. लेकिन मध्य प्रदेश में चुनावों के मद्देनजर शरद पूर्णिमा के अवसर पर नेताओं की 'चुनावी खीर' पर चुनाव आयोग की नज़र रहेगी. इस बार भाजपा, कांग्रेस समेत अन्य राजनैतिक दलों के नेता चुनावी खीर नहीं बांट पाएंगे. (इसे पढ़ें- बुंदेलखंड में इस बार BJP को सता रहा है GST का ख़ौफ)

दरअसल, विधानसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता के चलते चुनाव आयोग राजनैतिक दलों की हरेक गतिविधि पर नज़र रखे हुए है. प्रदेश में 28 नवंबर को मतदान होना है, जिसके चलते प्रत्याशी भी पूरा जोर लगाने में लगे हुए हैं. विधानसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक प्रत्याशी मतदाताओं को लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं.

लेकिन शरद पूर्णिमा के अवसर पर जहां प्रत्याशी चुनावी खीर बांटकर मतदाताओं को लुभाने की कोशिश में हैं, वहीं उनके मंसूबों पर चुनाव आयोग ने ग्रहण लगा दिया है. चुनाव आयोग ने इस प्रकार के प्रलोभन को भी आचार संहिता के उललंघन की श्रेणी में लिया है.

चुनाव आयोग की नजर में यदि कोई राजनैतिक दल का नेता खीर बांटता दिखा तो उसके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की कार्रवाई की जाएगी. बहरहाल अपने विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं को खीर की मिठास से मोहित करने वाले नेताओं की चुनावी खीर में आयोग ने फिलहाल खटास घोल दी है.

यह पढ़ें- मायावती आज भी दलितों की सबसे बड़ी नेता, 2019 के लिए होगा गठबंधन : जिग्नेश मेवाणी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2018, 11:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर