कर्ज से परेशान किसान ने लगाई फांसी, पिछले साल बेची फसल का नहीं मिला था पैसा

Vikas Dixit | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: November 14, 2017, 8:13 PM IST
कर्ज से परेशान किसान ने लगाई फांसी, पिछले साल बेची फसल का नहीं मिला था पैसा
किसान सुमेर सिंह धाकड़
Vikas Dixit | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: November 14, 2017, 8:13 PM IST
बढ़ते कर्ज के बोझ तले मंगलवार को एक और अन्नदाता ने फांसी के फंदे पर झूलकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. बताया जा रहा है कि किसान सुमेर सिंह धाकड़ ने किसान क्रेडिट कार्ड के नाम पर बैंक से 4 लाख रुपए का और साहूकारों से भी चार लाख रुपए का कर्ज ले रखा था. जिसकी अदायगी नहीं कर पाने के चक्कर में किसान की जान गई.

जानकारी के अनुसार गुना जिले के बमोरी तहसील के उकावद कला गांव में उस वक्त मातम पसर गया जब सुमेर सिंह नाम के किसान घर के अंदर फांसी के फंदे पर झूल गया. खेती किसानी कर अपना व परिवार का पेट पालने वाले सुमेर सिंह को पिछले साल के गन्ने की फसल बेचने का भी भुगतान नहीं हो पाया था. जिसके चलते उसके ऊपर कर्ज की तलवार लटकने लगी थी.

इसे कृषि विभाग की लापरवाही कहें या लचर प्रशासनिक व्यवस्था कि मृतक द्वारा कइयों बार चक्कर काटने के बावजूद उसका भुगतान रुका रहा. वर्ष 2014-15 में मृतक ने अपने 9 बीघा खेत में गन्ना बोया था. जिसका ढाई लाख से ज्यादा का भुगतान भी नहीं हो पाया था. वहीं मृतक सुमेर सिंह ने खेती किसानी के लिए ट्रैक्टर भी खरीद रखा था, जिसकी किश्तें भी शेष थी.

वहीं किसान की मौत के बाद हरकत में आये प्रशासनिक अमले ने किसान के गांव पहुंचकर मामले की लीपापोती करने की कोशिश की. किसान के शव को बमोरी पुलिस ने कब्जे में लेकर मार्ग कायम करते हुए उसे पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है.
First published: November 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर