Home /News /madhya-pradesh /

पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने सिंधिया समर्थकों को दी नसीहत, बोले- 'नेता कितना भी करिश्माई हो...'

पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया ने सिंधिया समर्थकों को दी नसीहत, बोले- 'नेता कितना भी करिश्माई हो...'

Gwalior News: पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता जयभान सिंह पवैया ने सिंधिया समर्थकों पर हमला बोलते हुए उन्हें नसीहत दे दी.

Gwalior News: पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता जयभान सिंह पवैया ने सिंधिया समर्थकों पर हमला बोलते हुए उन्हें नसीहत दे दी.

Madhya Pradesh News: पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता जयभान सिंह पवैया (Jaibhan singh pawaiya) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को नसीहत दी है.  मंगलवार को  तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने गुना पहुंचे पवैया ने कहा कि नेता कितना भी करिश्माई हो, वह तब तक ही वंदनीय है, जब तक वह मंच पर है. उसके बाद वह सब कार्यकर्ताओं के बराबर ही हैं. 'नए मित्र' जितना सम्मान अपने नेता का करते हैं, उतना ही बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का भी करना होगा. बीजेपी क्षत्रपों, नेताओं और वंशों पर आधारित पार्टी नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    गुना. एक बार फिर सिंधिया के समर्थक बीजेपी नेता के निशाने पर आ गए हैं. पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता जयभान सिंह पवैया (Jaibhan singh pawaiya) ने सिंधिया समर्थकों पर हमला बोलते हुए उन्हें नसीहत दे दी. पवैया ने कहा कि नेता कितना भी करिश्माई हो, वह तब तक ही वंदनीय है, जब तक वह मंच पर है. उसके बाद वह सब कार्यकर्ताओं के बराबर ही हैं.’ उन्होंने आगे कहा कि ‘नए मित्र’ जितना सम्मान अपने नेता का करते हैं, उतना ही बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का भी करना होगा. बीजेपी क्षत्रपों, नेताओं और वंशों पर आधारित पार्टी नहीं है.’ बता दें कि बीते मंगलवार को जयभान सिंह पवैया बीजेपी  (BJP) के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने गुना पहुंचे हुए थे.

    कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता जो काम करता है, वह पार्टी के लिए नहीं, राष्ट्र के लिए कार्य करता है. न जाने कितने जन्मों का पुण्य होगा, तब हमको भारत माता की सेवा करने का अवसर मिला है.

    मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी क्षत्रपों, नेताओं और वंशों पर आधारित पार्टी नहीं है. यह काम दूसरे लोग कर रहे हैं देश में. यह कार्यकर्ता आधारित पार्टी है. इसलिए जो हमारे नए मित्र, बड़े नेता आए हैं, वो यह सब सोच-समझकर आए हैं कि किस तरह के दल में जा रहे हैं. बीजेपी की कार्य संस्कृति कैसी है. हम नेताओं पर आधारित पार्टी नहीं हैं.

    जयभान सिंह पवैया ने कि हमारे यहां लोग नेता के पीछे नहीं भागते, यहां विचार के पीछे चलते हैं. नेता कितना ही करिश्माई हो, वह तब तक ही वंदनीय होता है जब तक वह पार्टी के मंच पर होता है. इसलिए जो आए हैं वह भी सम्मिलित हो जाएंगे. हमारे नए मित्र जो आए हैं, वह भी सैनिक की तरह यहां की बातें सीख जाएंगे. तेजी से उन्हें अपने मानस का परिवर्तन करना ही पड़ेगा.  BJP के जो वरिष्ठ नेता हैं, उनके प्रति उतना ही सम्मान उनको(सिंधिया समर्थकों) को रखना पड़ेगा, जितना वे अपने नेता का करते हैं.

    Tags: Guna News, Jyotiraditya Scindia, Madhya pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर