ग्रामीणों का आरोप, सिंधिया को गांव से मिले कम वोट तो मंत्री कर रहे हैं परेशान

किसानों का कहना है कि स्थानीय विधायक व श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया की वजह से उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है.

Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 19, 2019, 11:45 PM IST
Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 19, 2019, 11:45 PM IST
मध्य प्रदेश के बमोरी विधानसभा क्षेत्र के किसानों ने कमलनाथ सरकार के मंत्री पर गंभार आरोप लगाए हैं. किसानों का कहना है कि स्थानीय विधायक व श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया की वजह से उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है. आरोप है कि लोकसभा चुनाव में गुना से कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया को गांव से कम वोट मिले थे जिसके बाद गांव के लोगों को परेशान किया जा रहा है.

दरअसल, बल्लापुर गांव के अन्नदाता अपनी जमीन के सीमांकन को लेकर भटक रहे हैं. किसानों का आरोप है की उनकी ज़मीन का सीमांकन जानबूझकर नहीं किया जा रहा है. जबकि किसानों के द्वारा सीमांकन की फीस पूर्व में जमा कराई जा चुकी है.

तहसीलदार और पटवारी को लौटाया-

किसानों के अनुसार गांव में सीमांकन के लिए तहसीलदार और पटवारी आए थे. लेकिन, राजस्व अमले को स्थानीय विधायक व श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने अमले को उलटे पांव वापस लौटने का आदेश दे दिया. जिसके बाद अधिकारी सीमाकंन किए बगैर लौट गए. अब वे कार्यालय-कार्यालय भटक रहे हैं लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही है.

वोट नहीं तो योजनाओं का लाभ नहीं-

ग्रामीणों का कहना है कि उनके साथ दोहरा व्यवहार किया जा रहा है. गांव वालों पर आरोप लगाए जा रहे हैं की उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को वोट नहीं दिया. "वोट नहीं तो योजनाओं का लाभ नहीं" की तर्ज़ पर उन्हें परेशान किया जा रहा है. पहले ही किसान क़र्ज़ माफ़ी की योजना का लाभ अन्नदाता को नहीं मिल पाया है, ऐसे में किसानों को सरकारी योजनाओं से बंचित किया जा रहा है.

सिंधिया की हार से नाराज हैं मंत्री-
किसानों ने कमलनाथ कैबिनेट के मंत्री महेंद्र सिसोदिया पर सीधे आरोप लगाते हुए कहा है कि उनकी वजह से ही गांव को सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित किया जा रहा है. लोकसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया हार गए हैं, जिससे मंत्री जी नाराज हैं. इसलिए अब गांव के लोगों को परेशान किया जा रहा है.

कलेक्टर से की शिकायत-

किसानों ने मामले की शिकायत कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार से भी की है. जिसके बाद कलेक्टर ने खुद गांव पहुंचकर वस्तुस्थिति से अवगत होने की बात कही है.

ये भी पढ़ें- यहां पानी की कमी से परेशान बहुएं छोड़ रही हैं ससुराल, कई लड़कों के रिश्ते टूटे

ये भी पढे़ं-CM कमलनाथ के मंत्री ने 'सरकार आपके द्वार' के तहत लगाया चौपाल
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...