अपना शहर चुनें

States

MP: विधानसभा सत्र में बिजली कटौती पर सरकार की मुश्किलें बढ़ा सकते हैं 'छोटे राजा'

बिजली कटौती को लेकर सरकार पर बरसे लक्ष्मण सिंह
बिजली कटौती को लेकर सरकार पर बरसे लक्ष्मण सिंह

चाचौड़ा के कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह (Laxman Singh) ने इस बार कमलनाथ सरकार को बिजली के मुद्दे पर घेर लिया है. दरअसल लक्ष्मण सिंह अपने क्षेत्र चाचौड़ा के बिजली कटौती के मामले को लेकर परेशान हैं. उन्होंने क्षेत्र के लोगों से इस मामले को विधानसभा में उठाने की बात कही है.

  • Share this:
गुना. मध्य प्रदेश के गुना (Guna) जिले के चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने एक बार फिर कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) को घेरने की तैयारी कर ली है. अपने विधानसभा क्षेत्र के लिए फिक्रमंद लक्ष्मण सिंह ने बिजली के मुद्दे पर सरकार को घेरने का मन बना लिया है. दिग्विजय सिंह के छोटे भाई और विधायक लक्ष्मण सिंह ने एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान मंच से बयान देते हुए कहा कि चाचौड़ा विधानसभा क्षेत्र में ग्रामीणों को बिजली (Electricity) नहीं मिल रही है. उन्होंने कहा कि वे इस मुद्दे को आगामी विधानसभा सत्र में प्रमुखता से उठाएंगे. लक्ष्मण सिंह ने 16 मार्च से शुरू होने जा रहे विधानसभा सत्र को लेकर कमलनाथ सरकार को आगाह कर दिया है. कांग्रेसी विधायक ने बिजली विभाग पर तंज कसते हुए कहा है कि, 'यदि विभाग के पास पर्याप्त बिजली है तो फिर आती क्यों नहीं है'

बिजली विभाग के रवैये पर जताई नाराज़गी
राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम में कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने बिजली के मुद्दे पर सरकार और बिजली विभाग को आड़े हाथों लिया. लक्ष्मण सिंह ने बिजली विभाग के रवैये को लेकर नाराजगी जताते हुए कहा कि पर्याप्त बिजली होने के बावजूद चाचौड़ा के लोगों को बिजली क्यों नहीं मिल पाती? विधायक ने कहा कि बिजली विभाग के अधिकारियों से पूछने पर वे पर्याप्त बिजली होने का दावा जरूर करते हैं लेकिन क्षेत्र में बिजली नहीं देते.

विधानसभा सत्र में उठाएंगे बिजली का मुद्दा
प्रदेश सरकार को लेकर लक्ष्मण सिंह की नाराजगी जग जाहिर है. कमलनाथ सरकार के खिलाफ कमर कस के बैठे लक्ष्मण सिंह ने कहा कि 16 मार्च से विधानसभा का सत्र शुरू होने वाला है. इस सत्र में वो चाचौड़ा की बिजली कटौती का मुद्दा उठाएंगे.



ये भी पढ़ें -
MP: प्रदेश के इस 'मेगा किचन' में बनेगा भोपाल के 50 हजार बच्चों का खाना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज