गुना में हजारों चमगादड़ों की अचानक हुई मौत से हड़कंप, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट

वेटनरी डॉक्टर ने कहा कि पिछले दिनों तापमान में वृद्धि होने के कारण डिहाइड्रेशन या फिर हीट स्ट्रोक से चमगादड़ों की मौत हुई होगी.

Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 14, 2019, 4:37 PM IST
गुना में हजारों चमगादड़ों की अचानक हुई मौत से हड़कंप, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट
गुना जिले में हजारों चमगादड़ों की मौत से हड़कंप
Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 14, 2019, 4:37 PM IST
गुना जिले में विजयपुर थाना क्षेत्र के NFL परिसर में हजारों चमगादड़ों के अचानक मर जाने से हड़कंप मच गया है. पूरी की पूरी प्रशासनिक मशीनरी घटनास्थल पर पहुंच गई है. मृत पड़े चमगादड़ों की बारीकी से जांच शुरू कर दी गई है. हाल में केरल में निपाह वायरस को लेकर जारी किए गए अलर्ट से जोड़कर लोग इस घटना को देख रहे हैं और इस कारण डरे हुए हैं. हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने इससे इंकार किया है मगर अलर्ट जारी कर दिया है. वहीं NFL प्रबंधन की लापरवाही का आलम ये है कि मृत चमगादड़ों को यूं ही बाहर खुले में फेंक दिया गया है. पशु चिकित्सकों का मानना है कि पिछले दिनों तापमान में हुई वृद्धि के कारण हीट स्ट्रोक या फिर डिहाइड्रेशन से चमगादड़ों की मौत हुई होगी. हालांकि घटनास्थल से लिए गए सैंपल की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही चमगादड़ों की अचानक हुई मौत के असली कारणों का पता चल पाएगा.

चमगादड़ों की मौत और निपाह वायरस


राघोगढ़ तहसील में स्थित NFL (नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड) में लगभग 2 हजार से ज्यादा चमगादड़ों की मौत ने प्रशासन की नींद उड़ा दी है. इसके चलते स्थानीय लोगों में भी भय का माहौल बना हुआ है. पशु चिकित्सकों की टीम ने मृत चमगादड़ों का सैम्पल ले लिया है. लेकिन अभी तक किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सका है कि आखिरकार अचानक इतनी बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत कैसे हो गई.

केरल की घटना से डरे हुए हैं लोग

दरअसल मामला इसलिए भी ज्यादा गंभीर हो गया है, क्योंकि, हाल ही में निपाह वायरस को लेकर केरल में अलर्ट जारी किया गया था. डॉक्टरों के अनुसार निपाह वायरस बहुत तेज़ी से असर करता है. यदि मरीज को तुरंत इलाज नहीं मिले तो 48 घंटे के अंदर मरीज कोमा में जा सकता है. इस वायरस की वैक्सीन भी फिलहाल विकसित नहीं हो पाई है. चमगादड़ों की मौत पर NFL प्रबंधन कुछ भी बोलने से बच रहा है. वहीं मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी मामले की गंभीरता को बखूबी समझ रहे हैं.

हीट स्ट्रोक या डिहाइड्रेशन से मरे चमगादड़ !
वेटनरी डॉक्टर बीएस धाकरे ने कहा कि पिछले 8 से 10 दिनों के अंदर हजार से डेढ़ हजार की संख्या में चमगादड़ों की मौत हुई है. उन्होंने कहा कि वह खुद अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर जा चुके हैं. उन्होंने कहा कि घटनास्थल से सैंपल ले लिए गए हैं और जांच के लिए भोपाल भेज दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्ट्या ऐसा लगता है कि पिछले दिनों तापमान में वृद्धि होने के कारण डिहाइड्रेशन से या फिर हीट स्ट्रोक से चमगादड़ों की मौत हो गई. वहीं गुना के CMHO पीएस बुनकर ने कहा कि केरल में निपाह वायरस के कुछ केस मिले हैं. इसलिए यहां भी अलर्ट जारी किया गया है. हालांकि उन्होंने यह भी साफ तौर पर कहा कि यहां निपाह वायरस का कोई प्रकोप नहीं है.
Loading...

ये भी पढ़ें - जंगल में मिले प्रेमी युगल के कंकाल, खुदकुशी की आशंका

ये भी देखें - सांड ने बुजुर्ग को देर तक रौंदा, आसपास के लोगों ने बचाई जान

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...