अपना शहर चुनें

States

गुना: सर्किट हाउस की दीवार से पीएम मोदी की तस्वीर हटाई

यहां से पीएम मोदी की तस्वीर हटाई गई है
यहां से पीएम मोदी की तस्वीर हटाई गई है

गुना के सर्किट हाउस की दीवार से सिर्फ पीएम मोदी की ही तस्वीर हटाई गई है बाकी की तस्वीरें यथावत लगी हुईं हैं. इस घटना की तस्वीरें भी सामने आईं

  • Share this:
मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने अभी एक महीना भी नहीं हुआ है और केंद सरकार का अपमान करने का आरोप लगना शुरू हो गया है. दरअसल, गुना जिले में एक ऐसा वाकया सामने आया है जहां सर्किट हाउस में लगी प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर हटा दी गई है.

घटना गुना जिले के सर्किट हाउस की है जहां कक्ष में दीवार पर पीएम मोदी की तस्वीर लगी हुई थी. पीएम मोदी की तस्वीर के साथ ही राष्ट्रपति कोविंद समेत पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री , भीमराव अंबेडकर और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की भी तस्वीरें दीवार पर लगी हुईं थी. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर वहां से हटा ली गई.

दिलचस्प बात यह है कि दीवार से सिर्फ पीएम मोदी की ही तस्वीर हटाई गई है बाकी की तस्वीरें यथावत लगी हुईं हैं. इस घटना की जानकारी जैसे ही लोगों को लगी तो चर्चा तेज हो गई कि ऐसा आखिर क्यों किया गया. वहीं इस घटना की तस्वीरें भी सामने आईं जब दीवार पर पीएम मोदी की तस्वीर नहीं दिखी.



पहले उससे जगह पर पीएम की तस्वीर लगी हुई थी
पहले उसी जगह पर पीएम की तस्वीर लगी हुई थी

इस मामले में बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि प्रधानमंत्री का फोटो हटाना गलत है. हालांकि उन्होंने कहा कि पूरा मामला पता करने के बाद ही और कुछ कह पाऊंगा.

स्थानीय बीजेपी नेता सुनील मालवीय ने आरोप लगाया कि कांग्रेस में कुछ ऐसे लोग हैं जो ऐसी हरकतें करते हैं कि सर्किट हाउस से प्रधानमंत्री की तस्वीर हटा दी गई. देश के प्रधानमंत्री की तस्वीर वहां होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बीजेपी के 15 साल के शासन में जवाहरलाल नेहरु की तस्वीर नहीं हटाई गई.

वहीं कांग्रेस नेता सुनील मालवीय का कहना है कि कांग्रेस हमेशा देश के नेताओं का सम्मान करते है. अगर ऐसा किया गया है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है. इस संबंध में जिला प्रशासन से बात की जाएगी. सर्किट हाउस के केयरटेकर राम सिंह का कहना है कि आचार संहिता के चलते कुछ तस्वीरें हटाई गईं थी. इसके बाद फिर से तस्वीर लगा दी गई है.

यह भी पढ़ें- केंद्रीय मंत्री का आरोप- कमलनाथ कैबिनेट में हुई चंबल की उपेक्षा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज