लाइव टीवी

पुलिस ने मानव तस्करों से नाबालिग को मुक्त कराया,दो युवतियां गिरफ्तार

Vikas Dixit | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: February 21, 2018, 7:33 PM IST
पुलिस ने मानव तस्करों से नाबालिग को मुक्त कराया,दो युवतियां गिरफ्तार
प्रतीकात्मक फोटो

नाबालिग आदिवासी किशोरी को मुंबई में बेचने की तैयारी में थी गिरफ्त में आई युवतियां. माना जा रहा है इस रैकेट को चला रहे लोग जबरन कम उम्र की बच्चियों को देह-व्यापार में धकेलने का काम करते हैं.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के गुना में  मानव तस्करी से जुड़ा सनसनीखेज़ मामला सामने आया है. कैंट पुलिस ने बुधवार को मानव तस्करी के रैकेट का भंडाफोड़ कर रैकेट चला रही दो युवतियों को गिरफ्तार किया है. बूढ़े बालाजी क्षेत्र में पिछले 20 दिनों से बंधक बनाकर रखी गई एक नाबालिग आदिवासी लड़की को इन युवतियों के चंगुल से मुक्त कराया गया है.

दरअसल, 31 जनवरी से गायब एक आदिवासी नाबालिग लड़की की खोज में पुलिस जुटी हुई थी. करीब बीस दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली बूढ़े बालाजी क्षेत्र में एक घर में अपहरण कर लाई गई बच्चियों को रखा जाता है. खबर को पुख्ता करने के बाद पुलिस वहां एक घर में दबिश दी तो वहां गुमशुदा आदिवासी बच्ची मिल गई.

पुलिस ने मकान से रहनुमा और मुस्कान नाम की दो युवतियों  और प्रखर नामदेव नाम के युवक को मानव तस्करी के आरोपों में गिरफ्तार थाने ले आई.हालांकि घटनास्थल से मकान मालिक रसीद खान और उसकी पत्नी शहनाज़ फरार होने में कामयाब हो गए.

कैंट थाने के सीआई आशीष सप्रे ने बताया कि  पुलिस ने जब इनसे कड़ी पूछताछ की तो पता चला कि ये सभी बंधक बनाई गई बच्ची को मुंबई में बेचने की तैयारी कर रहे थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 21, 2018, 7:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर