ज्योतिरादित्य सिंधिया के मुकाबले उतरे बीजेपी उम्मीदवार पर प्रियदर्शिनी राजे ने कुछ यूं कसा तंज!

प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया की फाइल फोटो

प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया की फाइल फोटो

केपी यादव कभी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के सांसद प्रतिनिधि भी थे, लेकिन कांग्रेस द्वारा टिकट न देने से नाराज होकर उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया था

  • Share this:
मध्य प्रदेश की गुना लोकसभा इन दिनों सोशल साइट पर जमकर सुर्खियां बटोर रही हैं. वो इसलिए क्योंकि जो कल तक कांग्रेस का दामन थमाकर ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ सेल्फी लेने के लिए जदोजद किया करते थे, उसे ही बीजेपी ने गुना लोकसभा सीट से अपना प्रत्याशी बनाया है. ऐसे में ज्योतिरादित्य सिंधिया की पत्नी प्रियदर्शनी राजे सिंधिया के नाम से बने एक फेसबुक अकाउंट पर बीजेपी के प्रत्याशी की ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ सेल्फी लेने वाली तस्वीरें पोस्ट हो रही हैं.



दरअसल, गुना लोकसभा सीट पर इन दिनों विधानसभा चुनाव के दौरान दीवारों पर लिखी उस तस्वीर को वायरल किया जा रहा है. जिस पर बीजेपी के प्रत्याशी डॉ केपी यादव के द्वारा लिखा हुआ है, अबकी बार सिंधिया सरकार, तो वहीं केपी यादव की ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ सेल्फी लेती हुई तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं. केपी यादव कभी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के सांसद प्रतिनिधि भी थे, लेकिन कांग्रेस द्वारा टिकट न देने से नाराज होकर उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया था.



यह पढ़ें- नामांकन से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- ये जनता का चुनाव है





बीजेपी से कांग्रेस छोड़कर पार्टी में आए डॉ केपी यादव को गुना से अपना प्रत्याशी घोषित किया है. केपी यादव गुना-अशोकनगर क्षेत्र में तो अपनी पहचान रखते हैं, लेकिन शिवपुरी जिले में वे पार्टी के परिचित चेहरे नहीं हैं. ऐसे में कांग्रेस कह रही है, केपी यादव अवसरवादी है, इसलिए उन्होनें बीजेपी का दामन थामा है, और अब सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं.
वैसे गुना लोकसभा सीट से केपी यादव के नाम घोषणा के साथ ही सोशल साइट पर आम लोगों के साथ-साथ बीजेपी के स्थानीय नेता और कार्यकर्ता भी पार्टी द्वारा घोषित इस नाम पर हैरानी जाहिर करते नजर आ आए हैं. कुछ कार्यकर्ताओं ने यहां तक लिख दिया कि बीजेपी ने कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया को वॉकओवर दे दिया है. कई लोग ऐसे भी थे, जो सोशल साइट पर ये पूछते नजर आए कि आखिर केपी यादव हैं कौन?



वहीं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि चुनाव के परिणाम आने दो, केपी यादव ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भारी पड़ेंगे, साथ ही उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंस कसते हुए ये भी कहा कि कभी माधवराव सिंधिया भी जनसंघ में हुआ करते थे.



बता दें कि गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट को लेकर ये बीजेपी का नया प्रयोग है. इससे पहले बीजेपी सिंधिया परिवार के खिलाफ सबसे ज्यादा मुखर होने वाले व्यक्ति जयभान सिंह पवैया, नरोत्तम मिश्रा को उतार चुकी है, लेकिन उन्हें हार नसीब हुई है.



यह भी पढ़ें- श्राप देने में माहिर हैं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, शिवराज को भी दे चुकी हैं 'अंजाम भुगतने की चेतावनी'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज