लाइव टीवी

व्यक्तिगत स्वार्थ को त्याग कर राष्ट्र के उत्थान में सहयोगी बनें युवा: भागवत
Guna News in Hindi

भाषा
Updated: February 2, 2020, 11:26 PM IST
व्यक्तिगत स्वार्थ को त्याग कर राष्ट्र के उत्थान में सहयोगी बनें युवा: भागवत
व्यक्तिगत स्वार्थ को त्याग कर राष्ट्र के उत्थान में सहयोगी बनें युवा: भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने युवाओं से व्यक्तिगत स्वार्थ त्याग कर राष्ट्र के उत्थान में सहयोगी बनने की अपील की.

  • Share this:
गुना. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सर संघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने रविवार को युवाओं से आह्वान किया कि वह व्यक्तिगत स्वार्थ त्याग कर राष्ट्र के उत्थान में सहयोगी बनें. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के तीन दिवसीय युवा संकल्प शिविर के समापन समारोह को गुना में संबोधित करते हुए भागवत ने कहा, "युवा अपने व्यक्तिगत स्वार्थ त्याग कर राष्ट्र के उत्थान में सहयोगी बनें." संघ की ओर से जारी बयान में उन्होंने कहा, "अगर युवा अपने समय का छोटा हिस्सा भी राष्ट्रहित के काम में लगाने का संकल्प लें तो भारत विश्वगुरु बनकर उभरेगा." भागवत ने कहा कि युवा आज यहां से यह संकल्प लेकर जाएं कि वह अपना जीवन राष्ट्र एवं समाज के हित में कार्य कर सार्थक बनाएं.

उनके इस बयान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि यह बयान मध्यप्रदेश में आया है जहां की कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस नीत सरकार संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को विरोध कर रही है. इसके अलावा, आरएसएस का यह शिविर उस समय लगाया गया, जब देश में सीएए का विरोध चल रहा है और कुछ विश्वविद्यालयों में युवा महिला एवं पुरुषों का यह प्रदर्शन हिंसा में बदल गया है.

आरएसएस सूत्रों से मिली जानकारी के अुनसार, इस युवा संकल्प शिविर में भाग लेने के लिए मध्यप्रदेश के 16 जिलों से 1,376 युवा शिक्षार्थी एवं 315 प्रबंधकों ने भाग लिया, जिनकी आयु 16 से 30 वर्ष के बीच है. यह शिविर गुना के वीर सावरकर नगर में लगाया गया है. तीन दिवसीय इस शिविर में संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत एवं अखिल भारतीय व क्षेत्रीय अधिकारियों ने युवाओं से राष्ट्र एवं व्यक्तित्व निर्माण के विभिन्न विषयों पर चर्चा की.

इस शिविर के लिए बसाए गए वीर सावरकर नगर में स्वदेशाभिमान प्रदर्शनी का सजाई गई थी. शिविर के आखिरी दिन भागवत प्रदर्शनी देखने पहुंचे. शिविर के आखिरी दिन शिक्षार्थियों ने भागवत के सामने पूर्ण गणवेश में शारीरिक योग व्यायाम का प्रदर्शन किया. इस प्रदर्शन में व्यायाम योग, दण्डयोग, आसन एवं सुभाषित गीत का प्रदर्शन किया. इस प्रदर्शन के लिए युवा गत तीन महीनों से तैयारी कर रहे थे. इसके साथ ही नियुद्ध एवं दण्ड का भी प्रदर्शन किया गया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 2, 2020, 11:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर