लाइव टीवी

एमपी में 37 गांवों के आदिवासियों ने घेरा थाना, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

Vikas Dixit | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 29, 2018, 4:15 PM IST
एमपी में 37 गांवों के आदिवासियों ने घेरा थाना, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले
Photo- News18

पुलिसकर्मियों ने आदिवासियों को हटाने की कोशिश की तो हालात बिगड़ गए. इस दौरान अचानक पथराव शुरू हो गया.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के गुना जिले में सहरिया समाज के विरोध प्रदर्शन के दौरान जमकर हिंसा हुई. पथराव और वाहनों में तोड़फोड़ के बाद पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज के साथ आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े. अभी भी इलाके में भारी तनाव में है.

जानकारी के अनुसार, गुना जिले के रुठियाई पुलिस चौकी इलाके में एक दिन पहले कथित तौर पर महिला को एक व्यक्ति के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था. इसके बाद से ग्रामीण दोनों का सार्वजनिक रूप से जुलूस निकालने की बात पर अड़े हुए हैं. वहीं इस मामले में महिला का कहना है कि उसके साथ कोई ज्यादती या गलत काम नहीं हुआ है.

महिला के इस बयान के बाद ही आदिवासियों में आक्रोश फैल गया. 37 गांवों के आदिवासियों ने इस मुद्दे पर लामबंद होकर रुठियाई पुलिस चौकी का घेराव कर दिया. आदिवासियों की मांग थी कि महिला और उसके साथ पकड़े गए पुरुष के खिलाफ कार्रवाई की जाए.

पुलिस की काफी समझाइश के बाद भी आदिवासी धरना देने की बात पर अड़े रहे. पुलिसकर्मियों ने आदिवासियों को हटाने की कोशिश की तो हालात बिगड़ गए. इस दौरान अचानक पथराव शुरू हो गया. आरोप है कि प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों में भी तोड़फोड़ कर दी. इसके बाद पुलिस ने उन्हें खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज कर दिया. हालात फिर भी काबू में नहीं आए तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे.

सात पुलिस थानों का फोर्स और अतिरिक्त बल सहित करीब 400 पुलिसकर्मियों का दल मौके पर मौजूद है. अभी हालात पूरी तरह से सामान्य नहीं हुए है. ऐहतियातन संवेदनशील इलाकों में अतिरक्ति पुलिस बल को तैनात किया गया है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2018, 3:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर