लाइव टीवी

मां को नहीं मिला राशन तो बेटा बन गया श्रवण कुमार

Vikas Dixit | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 25, 2017, 1:34 PM IST
मां को नहीं मिला राशन तो बेटा बन गया श्रवण कुमार
सरकारी कंट्रोल की दुकान से राशन नहीं मिल पाने के चक्कर में एक बेटा इतना मजबूर हो गया कि उसे श्रवण कुमार बनना पड़ा

सरकारी कंट्रोल की दुकान से राशन नहीं मिल पाने के चक्कर में एक बेटा इतना मजबूर हो गया कि उसे श्रवण कुमार बनना पड़ा

  • Share this:
मध्य प्रदेश के गुना जिले की सरकारी कंट्रोल की दुकान से राशन नहीं मिल पाने के चक्कर में एक बेटा इतना मजबूर हो गया कि उसे श्रवण कुमार बनना पड़ा.

दरअसल खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के द्वारा बांटे जाने वाला राशन पाने के लिए हितग्राहियों को एड़ी चोटी का ज़ोर लगाकर जद्दोजहद करनी पड़ती है. ऐसा ही एक मामला जनसुनवाई के दौरान देखने को मिला, जब छाबड़ा कॉलोनी निवासी राधेश्याम को हाथठेले पर अपनी 90 वर्षीय बुजुर्ग माँ को बिठाकर लाना पड़ा.

चलने फिरने से लाचार बुजुर्ग महिला को अधिकारियों के सामने ले जाया गया. पीड़ित बेटे राधेश्याम ने अधिकारियों से गुहार लगाते हुए बताया कि उसकी माँ 90 वर्षीया केसर बाई के खाते में कंट्रोल सेल्समैन द्वारा राशन आवंटित नहीं किया जा रहा है. सेल्समैन का कहना है कि महिला के अंगूठे का निशान मशीन एक्सेप्ट नहीं कर रही है, जिसके चलते महिला की पहचान मैच नहीं हो पा रही है.

पीड़ित पक्ष ने बताया कि कंट्रोल सेल्समैन जानबूझकर राशन देने में आनाकानी कर रहा है, जबकि पूर्व में महिला के अंगूठे के निशान से ही पॉइंट ऑफ़ सैल माशीन से राशन आवंटित किया गया है. खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की निष्क्रियता के चलते कंट्रोल संचालक अपनी मनमर्जी करने पर उतारू हो गए हैं, जिनके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी है.

बहरहाल इस मामले में अब जवाबदेह अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2017, 1:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर