अपना शहर चुनें

States

कल्ली की मौत से ग़मगीन मोहल्ले वालों ने दिया मृत्युभोज, यजमान बने ये ख़ास मेहमान

स्ट्रीट डॉग की मौत पर मोहल्लेवालों ने दिया मृत्युभोज
स्ट्रीट डॉग की मौत पर मोहल्लेवालों ने दिया मृत्युभोज

  • Share this:
गुना. रात रात भर जागकर मोहल्लेवालों को सुरक्षा(Security) का एहसास कराने वाली कल्ली (Kalli) नहीं रही. वो मोहल्ले के नन्हे मुन्ने बच्चों का खिलौना थी और उनकी गार्जियन (Guardian) भी. वो बच्चों के साथ अठखेलियां करती थी और अजनबियों पर नज़र रखती थी. उसके जाने से सब ग़मगीन हैं. मोहल्ले वालों ने मान-सम्मान के साथ उसे विदा किया और फिर मृत्युभोज भी दिया.

यहां बात हो रही है गुना की एक स्ट्रीट FEMALE DOG की. उसका नाम था कल्ली. वो अब इस दुनिया से विदा ले चुकी है. अपने पीछे मासूम बच्चे को छोड़ गयी है. कल्ली ने दुनिया को भले ही अलविदा कह दिया हो लेकिन उसे चाहने वालों ने उसके मरणोपरांत हर वो संस्कार पूरे किए जो किसी इंसान की मौत के बाद किए जाते हैं.

सबकी प्यारी कल्ली
गुना मुख्यालय से 40 KM दूर आरोन तहसील में कल्ली नाम की FEMALE STREET DOG की अचानक मौत हो गयी. वो थी तो स्ट्रीट डॉग लेकिन सबकी दुलारी थी. वो मोहल्ले में ही पैदा हुई थी और यहीं पली-बढ़ी थी. कल्ली के सब दोस्त थे. बच्चों के साथ वो मस्ती करती थी और अगर कोई अजनबी मोहल्ले में आ जाए तो वो उस पर गुर्राकर सबको सतर्क कर देती थी. कल्ली गयी तो सब दुखी हो गए.
अंतिम संस्कार, हवन और शोकपत्र


कल्ली की आकस्मिक मौत के बाद मोहल्ले वालों ने तय किया कि उसके लिए भी वैसे ही संस्कार किए जाएंगे जो किसी इंसान की मौत के बाद किए जाते हैं. बाकायदा शोकपत्र छपवाया गया. शोकसभा के लिए शोकपत्र को स्थानीय लोगों तक पहुंचाया गया. कई लोग कल्ली की अंतिम यात्रा में शामिल भी हुए. कल्ली की आत्मशांति के लिए हवन पूजन भी कराया गया. हवन के बाद कल्ली के एकमात्र बच्चे को पगड़ी बांधकर पगड़ी रस्म की गयी.

कल्ली का मृत्युभोज
मोहल्लेवालों ने कल्ली का मृत्युभोज भी दिया. इसमें मोहल्ले के अन्य STREET DOGS को आमंत्रित किया गया था. इलाके के STREET DOGS के लिए कल्ली मां और बड़ी बहन की तरह थी.

ये भी पढ़ें-भोपाल में नामी गुटखा कंपनियों पर EOW का छापा, करोड़ों की टैक्स चोरी और मिलावट

3 साल की मासूम के एक हाथ में था चिप्स का पैकेट, दूसरे से किया अंतिम संस्कार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज