वैक्सीन की आड़ में ठगी: ग्वालियर में स्लॉट बुक कराने के नाम पर युवक के खाते से 40 हजार उड़ाए

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में वैक्सीन लगवाने का स्लॉट बुक कराने के बदले 40 हजार रुपए की ठगी का मामला सामने आया है.

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में वैक्सीन लगवाने का स्लॉट बुक कराने के बदले 40 हजार रुपए की ठगी का मामला सामने आया है.

ग्वालियर में स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी बताते हुए युवक को स्लॉट बुकिंग का झांसा देकर मोबाइल पर OTP भेजकर खाते से 40 हजार रुपए उड़ा लिये. युवक ने ग्वालियर साइबर सेल में शिकायत दर्ज़ कराई है.

  • Share this:

ग्वालियर. कोरोना वैक्सीनेशन की आड़ में भी जालसाज ऑनलाइन ठगी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं. ग्वालियर के एक युवक के साथ ठगी की ऐसी ही वारदात हुई. युवक को ऑनलाइन स्लॉट बुक कराने के चक्कर में करीब 40 हजार रुपए की चपत लग गई. दरअसल युवक ने वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन उसे स्लॉट नही मिल रहा था. रजिस्ट्रेशन के लिए नेट पर सर्च कर रहा था, तो उसके पास फोन आया. फोन करने वाले ने खुद को स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी बताते हुए युवक को स्लॉट बुकिंग का झांसा देकर मोबाइल पर OTP भेजा. युवक ने OTP बताया थोड़ी देर बाद उसके खाते से 40 हजार रुपए ट्रांसफ़र हो गए. युवक ने ग्वालियर साइबर सेल में शिकायत दर्ज़ कराई.

स्लॉट बुक कराने के लिए क्लिक करते ही खाते में से रुपए उड़े

ग्वालियर के आनंद नगर में रहने वाले राम कुमार निजी कंपनी में नौकरी करते हैं. रामकुमार ने पिछले हफ्ते कोविन एप पर वैक्सीन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन राम कुमार को टीकाकरण के लिए स्लॉट नहीं मिल रहा था. बीते तीन दिन से रामकुमार स्लॉट के लिए मशक्कत कर रहा था इसी दौरान उसके मोबाइल पर फोन आया. फ़ोन करने वाले ने बताया कि वो स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी है, जिन लोगों के स्लॉट बुक नही हो रहे उनके लिए विभाग द्वारा स्लॉट की बुकिंग कर रहे हैं. कथित अधिकारी ने रामकुमार के मोबाइल पर एक OTP भेजी. रामकुमार ने फोन करने वाले को OTP बता दिया.
15 मिनट में खाते से निकले 40 हज़ार रुपए निकले

फोन करने वाले ने रामकुमार से कहा कि 15 मिनट में आपका स्लॉट बुक हो जाएगा. कुछ देर बाद जब रामकुमार ने मोबाइल देखा, तो उसके खाते से रुपए निकलने का मैसेज पड़ा था. ठगी का अहसास होते ही युवक ने एप के कस्टमर केयर को खबर दी. साइबर सेल को दी गई है.

कोरोना के नाम पर ठगने वाले जालसाज से बच कर रहें.

- अनजान नंबर पर रुपए खाते में न डालें, ट्रांजेक्शन न करें



- आपके मोबाइल पर आया ओटीपी आपके लिए है किसी से शेयर न करें

- अपनी मोबाइल की डिटेल किसी से शेयर न करें

- मोबाइल पर आई किसी भी लिंक पर क्लिक न करें

कस्टमर केयर का नंबर कभी इंटरनेट से न निकालें, सीधे वेबसाइट पर सर्च करें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज