ग्वालियर में बनेगा 500 बिस्तर का नया अस्पताल, जानिए क्या है कोरोना से लड़ने का प्लान

ग्वालियर में कोरोना संक्रमण से लड़ने का नया तरीका अपनाया जाएगा.

ग्वालियर में कोरोना संक्रमण से लड़ने का नया तरीका अपनाया जाएगा.

MP Corona Update: मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में कोरोना से लड़ने के लिए नया अस्पताल बनाया जाएगा. इस अस्पताल में 500 बिस्तर होंगे. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसके लिए कई घोषणाएं की हैं.

  • Last Updated: May 17, 2021, 12:13 PM IST
  • Share this:

ग्वालियर. ग्वालियर में कोरोना से निपटने के लिए 500 बिस्तर का नया अस्पताल बनेगा. इसमें बेहतर इलाज के लिए सभी अत्याधुनिक उपकरण उपलब्ध रहेंगे. डबरा में स्वीकृत 50 बिस्तर के अस्पताल का निर्माण भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को संभाग स्तरीय क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में ये बातें कही. बैठक में केन्द्रीय कृषि, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सांसद विवेक नारायण शेजवलकर सहित क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य मौजूद थे.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बैठक में कहा कि ग्वालियर में ऑक्सीजन के कई प्लांट स्थापित करने की स्वीकृति दी गई है. वेंटीलेटर भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराए जा रहे हैं. ऑक्सीजन प्लांट और वेंटीलेटर के संचालन में जो स्टाफ लगेगा उनको प्रशिक्षण दिया जाएगा. ताकि जरूरत पड़ने पर स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर ढंग से संचालित किया जा सके. डॉक्टर और पैरामेडीकल स्टाफ की भर्ती प्रक्रिया की रुप-रेखा तैयार की जा रही है. जल्द ही ग्वालियर को पर्याप्त स्टाफ उपलध होगा.

ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 8 कोविड केयर सेंटर

बैठक में कलेक्टर कौशलेंद्र सिंह ने बताया कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 8 कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं. शासकीय कन्या छात्रावास भितरवार, शासकीय छात्रावास चीनौर, कन्या छात्रावास डबरा, सेवा भारती डबरा, मैरिज गार्डन झांसी रोड़ डबरा, शासकीय छात्रावास बेहट, इन्द्रप्रस्त हॉस्पिटल घाटीगांव स्थापित किए गए हैं. इसके साथ ही शहरी क्षेत्र में भी कोविड केयर सेंटर, सामाजिक संस्थाओं और जनप्रतिनिधियों के जरिए संचालित किए जा रहे हैं.
बिना मास्क घूमने वालों से 63 लाख जुर्माना वसूला

जिले में बिना मास्क पहने घूमने वालों पर कार्रवाई भी की गई है. कुल 70147 व्यक्तियों से 63 लाख रूपए से ज्यादा की वसूली की गई है. कलेक्टर ने बताया कि भविष्य की तैयारियों को लेकर भी जिले में विस्तृत प्लान तैयार किया गया है. जिला अस्पताल मुरार सिविल अस्पताल हजीरा में ऑक्सीजन प्लांट तैयार किया जा रहा है. इसके साथ ही एसएनसीयू सिविल अस्पताल हजीरा का निर्माण प्रस्तावित है. जिला चिकित्सालय मुरार में 20 बेड वाला आईसीयू तैयार किया जा रहा है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा- बच्चों के इलाज के लिए अलग होगी व्यवस्था



केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा तीसरी लहर को देखते हुए बच्चों की भर्ती के भी इंतजाम अस्पताल में किए जा रहे हैं. साथ ही ब्लैक फंगस का अलग से वार्ड बनाया जाएगा. तोमर के मुताबिक प्रदेश में अब दवाइयों और ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहेगी और जुलाई-अगस्त से वैक्सीन भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज