ग्वालियर की कैंसर पहाड़िया में घूम रहा है विलुप्त प्रजाति का ब्लैक पैंथर, देखें Video

वन विभाग की टीम ब्लैक पैंथर की तलाश कर रही है
वन विभाग की टीम ब्लैक पैंथर की तलाश कर रही है

वन विभाग (Forest department) की टीम को सर्चिंग के दौरान पैंथर के पैरों के निशान मिले हैं. डीएफओ अभिनव पल्लव ने इस बात की आधिकारिक पुष्टि की है कि cctv में कैद तस्वीरें ब्लैक पैंथर की हैं.

  • Share this:
ग्वालियर.ग्वालियर में ब्लैक पैंथर (Black Panther) मिला है. वन विभाग (Forest Department) ने इसकी पुष्टि कर दी है. ये ब्लैक पैंथर यहां कैंसर पहाड़िया के जंगल में दिखाई दिया. उसकी तस्वीरें यहां लगे एक cctv कैमरे में कैद हुई हैं. ब्लैक पैंथर दुर्लभ प्रजाति का है.

ग्वालियर के कैंसर पहाड़िया के जंगल में एक ब्लैक पैंथर दिखने से वन विभाग जहां उत्सुक है वहीं इलाके के लोग दहशत में हैं. जंगल से सटा ये  रिहायशी इलाका है, जहां एक मकान के बाहर लगे cctv कैमरे में ब्लैक पैंथर की तस्वीरें कैद हुई हैं.वन विभाग ने पैंथर होने की सूचना पर जंगल में तलाशी शुरू कर दी है. स्थानीय लोगों को इलाके में बाहर और अकेले नहीं निकलने की सलाह दी है.

कैंसर पहाड़िया में दिखा ब्लैक पैंथर
कैंसर पहाड़िया के पास  स्थित न्यू विजय नगर में रहने वाले चन्द्र प्रकाश मल्होत्रा के घर के बाहर cctv कैमरा लगा है. गुरुवार शाम cctv रिकॉर्डिंग चैक करने के दौरान उन्हें फुटेज में एक काली बड़ी बिल्ली की तरह का जानवर घूमता दिखा. जानवर देखने में ब्लैक पैंथर की तरह था. लेकिन उन्हें यकीन नहीं हुआ कि इस इलाके में ब्लैक पैंथर हो सकता है. यह cctv रिकॉर्डिंग 29 सितम्बर रात 8 बजे की थी.चन्द्र प्रकाश कैंसर हॉस्पिटल में मेल नर्स हैं. उन्होंने पैंथर के देखे जाने की जानकारी अपने पड़ौसियों को दी और फिर वन विभाग को इत्तिला दी गई.
वन विभाग ने की पुष्टि


वन विभाग का अमला मौके पर डटा है. वो लगातार जंगल में सर्चिंग कर रहा है. वन विभाग की टीम को सर्चिंग के दौरान पैंथर के पैरों के निशान मिले हैं. डीएफओ अभिनव पल्लव ने इस बात की आधिकारिक पुष्टि की है कि cctv में कैद तस्वीरें ब्लैक पैंथर की हैं.

वन विभाग ने दी एहतियात बरतने की सलाह
वन विभाग की टीम ने सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद इलाके की सर्चिंग शुरू कर दी है. उसने स्थानीय लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी हैं. साथ ही खासतौर पर बच्चों को घर से बाहर नहीं निकलने देने की सलाह दी है. लोगों को इलाके में मॉर्निंग वॉक पर न आने की हिदायत दी जा रही है. इस इलाके में 2 निजी अस्पताल, नर्सिंग हॉस्टल, रेस्टोरेंट और रिहायशी बस्ती है. करीब दस हज़ार लोगों का यहां आना जाना होता है, लिहाजा पुलिस ने भी यहां गश्ती बढ़ा दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज