Home /News /madhya-pradesh /

संतान के लिए 7 दिन में 2 कॉलगर्ल की बलि, मास्टरमाइंड ने मारने से पहले दोनों से बनाए थे संबंध

संतान के लिए 7 दिन में 2 कॉलगर्ल की बलि, मास्टरमाइंड ने मारने से पहले दोनों से बनाए थे संबंध

Arti Mishra murder case: कॉलगर्ल आरती और नीरू हत्याकांड में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है.

Arti Mishra murder case: कॉलगर्ल आरती और नीरू हत्याकांड में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है.

Arti Mishra Murder Case: ग्वालियर में बच्चे की चाहत के लिए दो कॉलगर्ल नीरू और आरती मिश्रा का मर्डर कर दिया गया. तांत्रिक के कहने पर पति-पत्नी, ननद और उसके लिव इन पार्टनर ने दोनों का गला घोंट दिया. मारने से पहले मास्टरमाइंड नीरज ने दोनों के साथ सेक्स किया था.

अधिक पढ़ें ...

ग्वालियर. ग्वालियर में सनसनी फैला देने वाले नरबलि कांड में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. बेटे की चाहत में एक नहीं, बल्कि दो नरबलियां दी गईं. दोनों हत्याओं में कॉलगर्ल का ही इस्तेमाल किया गया. उन्हें मारने से पहले हत्याकांड के मास्टरमाइंड नीरज परमार ने उनके साथ सेक्स किया था. हैरान करने वाली बात ये भी है कि जिस वक्त हत्याएं हो रही थीं, उस वक्त तांत्रिक लगातार वीडियो कॉलिंग पर बना हुआ था. वह वीडियो कॉल पर ही मंत्र पढ़ रहा था. मारी गई कॉलगर्ल के नाम नीरू और आरती मिश्रा हैं.

पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने एक बड़ी गलती कर दी थी. कॉलगर्ल नीरू का सिम कार्ड तांत्रिक के पास मिला. वह यह सिम कार्ड अपने मोबाइल में इस्तेमाल कर रहा था और इसीसे सारा राज खुल गया. जिस जगह आरती की हत्या की गई, वहां शराब की बोतल, सिंदूर और कलावा भी मिले हैं. पुलिस ने सारा सामान जब्त कर लिया है.

तांत्रिक के कहने पर की दो हत्याएं

गौरतलब है कि मुरैना रोड पर आईआईटीएम कॉलेज के पास 21 अक्टूबर की सुबह महिला का शव मिला था. पुलिस ने जांच की तो पता चला कि लाश  हजीरा की रहने वाली 40 साल की आरती उर्फ लक्ष्मी मिश्रा की है. इसके बाद पुलिस ने पूरी तफ्तीश की और मोतीझील के रहने वाले ममता, उसके पति बेटू भदौरिया, ममता की ननद मीरा राजावत, मीरा के लिव इन पार्टनर नीरज परमार और तांत्रिक गिरवर यादव को गिरफ्तार किया. जांच में सामने आया कि ममता और बेटू को शादी के 18 साल बाद भी संतान नहीं हो रही थी. उन्हें तांत्रिक ने नरबलि के लिए कहा था. आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि आरती से पहले उन्होंने 13 अक्टूबर को कॉलगर्ल नीरू की भी हत्या की थी.

सेक्स कर की हत्या, लाश को लगाया सिंदूर

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि 13 अक्टूबर को पहली बलि नीरू की दी. उस दिन दुर्गाष्टमी थी. मास्टरमाइंड नीरज ने पहले नीरू को शराब पिलाई फिर सेक्स किया. उसके बाद उसका गला घोंट दिया. जब नीरू के शराब पीने की बात तांत्रिक को पता चली तो वह भड़क गया. उसने कहा कि बलि खंडित हो गई. दूसरी बलि का इंतजाम करो. चूंकि, पहली लाश की पहचान नहीं हो पाई थी, तो आरोपियों को हत्या करना आसान लगा. दूसरी बलि के लिए उन्होंने आरती उर्फ लक्ष्मी मिश्रा को चुना. उसे 10 हजार रुपये का लालच देकर बेटू भदौरिया के घर ले गए. यहां छत पर इसके साथ भी नीरज ने सेक्स किया और फिर गला दबा दिया. उसकी हत्या के बाद जब नीरज लाश को सिंदूर लगा रहा था, उस वक्त तांत्रिक अपने घर से मोबाइल के जरिए मंत्र पढ़ रहा था.

सिम ने खोल दिया पूरा राज

20 अक्टूबर की रात आरती की हत्या के बाद जब पुलिस ने पांचों आरोपियों से कड़ी पूछताछ की तो राज खुल गया. सभी ने जुर्म कबूल कर लिया. शुरुआत में पुलिस को लगा कि एक ही लड़की का मर्डर हुआ है. लेकिन, जब तांत्रिक के मोबाइल की जांच की तो पुलिस दंग रह गई. उसके मोबाइल में दो सिम थे. एक उसके नाम पर, दूसरा नीरू के नाम पर. जांच की तो पता चला कि वह भी कॉलगर्ल थी. इसके बाद पुलिस ने फिर सख्ती से पूछताछ की, तो सभी ने 13 अक्टूबर उसकी भी हत्या की बात कबूल की.

Tags: Gwalior news, Mp news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर