Home /News /madhya-pradesh /

कॉलगर्ल की बलि दिलवाने वाले तांत्रिक के हैं कई कारनामे, भिखारी महिला से भी ठग चुका है 3 लाख रुपये

कॉलगर्ल की बलि दिलवाने वाले तांत्रिक के हैं कई कारनामे, भिखारी महिला से भी ठग चुका है 3 लाख रुपये

ग्वालियर में कॉल गर्ल की बलि मामले में पुलिस को तांत्रिक से जुड़ी नई जानकारी मिली है.

ग्वालियर में कॉल गर्ल की बलि मामले में पुलिस को तांत्रिक से जुड़ी नई जानकारी मिली है.

Gwalior Call Girl Murder Case: तांत्रिक (Tantrik) के साथी ने ही पुलिस (Police) को बताया है कि रेलवे स्टेशन (Railway Station) के आसपास घूमने वाली एक भिखारी महिला (Beggar Woman) से कथित बाबा ने 3 लाख रुपए ठगे थे. भिखारी महिला ने यह 3 लाख रुपए भीख मांग-मांगकर जोड़े थे. पुलिस के समक्ष यह खुलासा तांत्रिक सखी बाबा के साथी नीरज परमार ने ही किया है. पुलिस बाबा से जुड़ी हर जानकारी जुटा रही है, ताकि गंभीरता से मामले की जांच की जा सके. पुलिस को शक है कि तांत्रिक गिरवर यादव कई अपराधों में शामिल हो सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    ग्वालियर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर (Gwalior) में संतान की चाह में 2 कॉल गर्ल की बलि (Call Girl Sacrifice) के लिए उकसाने वाले तांत्रिक के अब अलग अलग कारनामे सामने आने लगे हैं. ग्वालियर में तांत्रिक ने पैसों की ठगी भी की है. तांत्रिक के साथी ने ही पुलिस (Police) को बताया है कि स्टेशन के आसपास घूमने वाली एक भिखारी महिला (Beggar Woman) से कथित बाबा ने 3 लाख रुपए ठगे थे. भिखारी महिला ने यह 3 लाख रुपए उसने भीख मांग-मांगकर जोड़े थे. पुलिस के समक्ष यह खुलासा तांत्रिक सखी बाबा के साथी नीरज परमार ने ही किया है. नीरज दो साल से तांत्रिक के साथ है. नीरज के दावे के बाद पुलिस अब भिखारी महिला की तलाश में जुट गई है.

    नीरज परमार ने पुलिस को बताया कि तांत्रिक की नजर भिखारी महिला पर पड़ गई. तांत्रिक ने भिखारियों के बीच बैठकर महिला से दोस्ती की. उसने बताया कि वह काला जादू करने में माहिर है. महिला की राशि और नक्षत्र ऐसे हैं कि वह तंत्र-मंत्र से माया को हासिल कर सकती है. पैसों की चाहत में भिखारी महिला तांत्रिक के झांसे में आ गई. धीरे-धीरे तीन बार में सखी बाबा उर्फ गिरवर यादव ने महिला से उसके 3 लाख रुपए ऐंठ लिए.

    महिला की तलाश तेज
    पुलिस नीरज परमार के बताए अनुसार महिला की तलाश रेलवे स्टेशन और आस-पास के मंदिरों में कर रही है. पुलिस को महिला अब तक नहीं मिली है. आशंका है कि तांत्रिक ने कहीं उस महिला के साथ कुछ गलत तो नहीं किया है. ग्वालियर के सीएसपी रवि भदौरिया ने मीडिया को बताया कि अभी यह कहानी प्राथमिक तौर पर सामने आई है. तांत्रिक के दोस्त नीरज ने नया कारनाम बताया है. इसकी सच्चाई पता लगाने महिला की तलाश की जा रही है.

    संतान के लिए 7 दिन में 2 कॉलगर्ल की बलि, मास्टरमाइंड ने मारने से पहले दोनों से बनाए थे संबंध

    नीरज परमार ने पुलिस को कथित बाबा से जुड़ी कई जानकारियां दी हैं. नीरज ने बताया कि बाबा दतिया के सेवढ़ा का रहने वाला है. फिर मुरैना के सरायछोला में रहा. इसके बाद ग्वालियर आ गया. नीरज दो साल से उसके साथ है.

    संतान की चाहत में कॉलगर्ल की हत्या
    बता दें कि ग्वालियर के बहोड़ापुर मोतीझील निवासी बेटू भदौरिया और उसकी पत्नी ममता भदौरिया की शादी के 18 साल बाद भी उनकी कोई संतान नहीं है. बेटू ने इसका जिक्र बहन मीरा राजावत से किया. बताया जा रहा है कि मीरा देह व्यापार से जुड़ी है. उसके प्रेमी नीरज परमार को जब यह पता लगा तो उसने तांत्रिक गिरवर यादव उर्फ सखी बाबा से मिलवाया. बाबा ने संतान के लिए किसी इंसान की बलि देने की बात कही.

    नीरज ने बेटू भदोरिया को बताया कि बलि के लिए कॉलगर्ल का उपयोग कर सकते हैं, क्योंकि उनके आगे-पीछे कोई नहीं होता है. मीरा राजावत देह व्यापार से जुड़ी थी, इसलिए उसने पहचान की हजीरा की नीरू का इंतजाम किया. सभी लोग उससे डील कर उसे सरायछोला मुरैना के बीहड़ लेकर पहुंचे. दुर्गाष्टमी (13 अक्टूबर) को उसी की चुनरी से उसका गला दबाकर मार डाला, लेकिन हत्या से पहले कॉलगर्ल के शराब पीने पर तांत्रिक ने बलि अस्वीकार कर दी.

    इसके बाद शरद पूर्णिमा (20 अक्टूबर) की रात कॉलगर्ल आरती उर्फ लक्ष्मी मिश्रा को इसी तरह ले जाकर हत्या की. इस बलि के बाद लाश तांत्रिक को दिखाने जा रहे थे, तभी बाइक से लाश के गिरने पर उसे छोड़कर भागे. सीसीटीवी कैमरे की फुटेज और कॉलगर्ल की कॉल डिटेल से पूरा राज खुल गया.

    Tags: Gwalior crime, Gwalior news, Madhya pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर