लाइव टीवी

ग्वालियर: प्रशासन के खिलाफ कांग्रेस MLA का धरना, लगा डाला ये आरोप

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 19, 2019, 2:22 AM IST
ग्वालियर: प्रशासन के खिलाफ कांग्रेस MLA का धरना, लगा डाला ये आरोप
प्रशासन की अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के खिलाफ धरने पर बैठे कांग्रेस विधायक

ग्वालियर (Gwalior) के सिरोल पहाड़ी (Serole Pahadi) से अतिक्रमण (Encroachment) हटाने पहुंचे निगम के दस्ते को स्थानीय लोगों के अलावा कांग्रेस विधायक मुन्ना लाल गोयल के भी विरोध (Protest) का सामना करना पड़ा. गोयल ने प्रशासन पर कांग्रेस वचन पत्र को पूरा करने के मार्ग में बाधक भी कह डाला.

  • Share this:
ग्वालियर. मध्य प्रदेश हाईकोर्ट (Madhya Pradesh High court) के आदेश के बाद अतिक्रमण (Encroachment) हटाने पहुंचा प्रशासन का अमला उस वक्त सकते में आ गया जब अतिक्रमणकारियों के समर्थन में कांग्रेस के क्षेत्रीय विधायक मुन्ना लाल गोयल (Congress MLA Munna Lal Goyal) धरने पर बैठ गए. अतिक्रमणकारियों के साथ धरने पर बैठे विधायक ने कहा कि गरीबों की दीपावली (Diwali) किसी हालत में काली नहीं होने देंगे. सिरोल पहाड़ी पर 90 से ज्यादा परिवारों ने सरकारी जमीन पर बना रखे हैं मकान.

जब सरकार के विधायक ही बैठ गए धरने पर
ग्वालियर जिला प्रशासन की टीम आज सिरोल पहाड़िया से अतिक्रमण हटाने पहुंची थी. मदाखलत अमला लाव लश्कर के साथ सिरोल पहाड़ी इलाके में पहुंचा था. अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की जाती इससे पहले ही वहां रहने वाले लोग सामने आ गए. इन लोगों ने मकान न तोड़े जाने की गुहार लगाई और दीपावली तक मोहलत देने की मांग की. लेकिन प्रशासन ने दो टूक बात कहते हुए अतिक्रमण हटाने की बात कही. इसी बीच खबर मिलते ही क्षेत्रीय विधायक मुन्नालाल गोयल भी पहुंचे और धरने पर बैठ गए. विधायक का कहना था कि सिरोल पहाड़ी पर बसे लोगों ने हाईकोर्ट रिवीजन पिटिशन फाइल की है, जिस पर 2 दिन बाद रिव्यू होना है.

News - ग्वालियर जिला प्रशासन की टीम सिरोल पहाड़ी इलाके से अतिक्रमण हटाने पहुंची थी
ग्वालियर जिला प्रशासन की टीम सिरोल पहाड़ी इलाके से अतिक्रमण हटाने पहुंची थी


काली नहीं होने देंगे गरीबों की दीवाली
विधायक ने कहा कि वो इन गरीबों की दीपावली काली नहीं होने देंगे. प्रशासन को इन गरीबों को थोड़ी मोहलत देनी चाहिए, ताकि गरीब दीपावली भी मना सकें और कानून का उल्लंघन भी ना हो. विधायक मुन्नालाल गोयल का कहना है कि उनकी सरकार ने वचन पत्र में ये वादा किया है कि जो जहां बसा है, उसे वहीं रहने के लिए जगह दी जाएगी, लेकिन प्रशासन सरकार के वचन पत्र को पूरा करने में बाधा बन रहा है.

सिरोल पहाड़ी पर बसे हैं 90 परिवार
Loading...

गौरतलब है कि सिरोल पहाड़ी इलाके में करीब 90 परिवार बसे हैं, इनमें करीब तीन सौ से ज्यादा लोग रहते हैं. यहां रह रहे लोगों का कहना है कि उन्होंने कलेक्टर को आवास के लिए आवेदन भी दिए हैं, लेकिन अब तक पट्टे नही मिले हैं. इन लोगों ने हाईकोर्ट में रिव्यू पीटिशन भी फाइल कर रखी है, जिस पर दो दिन बाद सुनवाई होनी है. लिहाजा प्रशासन को उनकी स्थिति पर गौर करना चाहिए. कब्जाधारियों का कहना है कि उन्हें हटाया गया तो सिर से छत छिन जाएगी, ऐसे में उनकी दीपावली काली हो जाएगी.

ये भी पढ़ें -
Magnificent MP: 2 साल बाद मध्य प्रदेश इकनॉमिक टाइगर होगा
मालवा में फिर सुलग सकती है चिंगारी, सरकार से इन मुद्दों पर नाराज है किसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 2:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...