सिंधिया के कार्यक्रम के बाद प्राचार्य सस्पेंड, विरोध में मंत्री के बंगले के सामने भारी हंगामा

Sushil Koushik | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2017, 11:48 PM IST
सिंधिया के कार्यक्रम के बाद प्राचार्य सस्पेंड, विरोध में मंत्री के बंगले के सामने भारी हंगामा
Sushil Koushik | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2017, 11:48 PM IST
मध्य प्रदेश के अशोक नगर जिले के मुंगावली कॉलेज के प्राचार्य को हटाने के विरोध में ग्वालियर में भी हंगामा हुआ. गुरुवार को कांग्रेसियों ने मंत्री जयभान सिंह पवैया के बंगले के सामने जोरदार प्रदर्शन किया.

कांग्रेसियों ने पहले धरना दिया फिर मंत्री के बंगले में घुसने की कोशिश की. जैसे ही कांग्रेसी पुलिस के बैरिकेट्स और घेरा तोड़कर मंत्री के बंगले की तरफ जाने लगे, तो पुलिस ने उनको रोका. इसके बाद कांग्रेसियों और पुलिस के बीच झूमाझटकी हो गई.

विरोध बढ़ता देख पुलिस ने करीब 20 से ज्यादा कांग्रेसियों को घसीटते हुए गिरफ्तार कर लिया. कांग्रेस ने मुंगावली के प्राचार्य को हटाने की घटना को भाजपा की दलित विरोधी मानसिकता बताया और कहा कि भाजपा सिंधिया से डरी हुई है.

कांग्रेस के मुताबिक सांसद के प्रोटोकाल के नाते ज्योतिरादित्य  सिंधिया शैक्षणिक संस्थाओं में जाने के लिए अधिकृत है और बीजेपी सरकार इसे कांग्रेस का प्रचार बताकर लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है.

अशोक नगर जिले के मुंगावली के गणेश शंकर विद्यार्थी कॉलेज में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के छात्र-छात्राओं से संवाद करना उच्च शिक्षा विभाग को इतना नागवार गुजरा कि विभाग ने पूरे आयोजन को राजनैतिक करार देते हुए प्राचार्य को ही निलंबित कर दिया है.

बुधवार देर शाम जारी आदेश में प्राचार्य बीएल अहिरवार के निलंबन आदेश में उन्हें अशोक नगर से शहडोल अटैच करते हुए उन पर कॉलेज में राजनैतिक दल के जमावड़े समेत राजनैतिक दल का चुनाव चिन्ह वाले आयोजन करने संबंधी आरोप लगाए गए हैं. हालांकि, प्राचार्य ने स्पष्ट किया है कि सिंधिया छात्र-छात्राओं के आमंत्रण पर करियर काउंसलिंग के लिए आए थे.
First published: October 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर