होम /न्यूज /मध्य प्रदेश / ग्वालियर के गुर्गे ने ली थी कोलकाता के वकील की हत्या की सुपारी, व्हाट्सएप ने बचायी जान

 ग्वालियर के गुर्गे ने ली थी कोलकाता के वकील की हत्या की सुपारी, व्हाट्सएप ने बचायी जान

Gwalior Police Samachar : क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की तो नीरज ने बताया कि कोलकाता के पवन राय से उसकी डील उज्जैन के एक बदमाश ने करवाई थी.

Gwalior Police Samachar : क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की तो नीरज ने बताया कि कोलकाता के पवन राय से उसकी डील उज्जैन के एक बदमाश ने करवाई थी.

Gwalior Crime News. पिछले सप्ताह अवैध हथियार के साथ एक युवक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. एक युवा बेड पर पिस्ट ...अधिक पढ़ें

ग्वालियर. ग्वालियर पुलिस की समय पर की गयी कार्रवाई से कोलकाता के एक वकील की जान बच गयी. ग्वालियर के एक गैंगस्टर के गुर्गे ने वकील की हत्या की सुपारी ले रखी थी. वो कोलकाता जाने के लिए ट्रेन में अपना रिजर्वेशन भी करवा चुका था. इसमें चौंकाने वाला खुलासा ये हुआ है कि गुंडे बदमाशों ने अपना व्हाट्सएप ग्रुप बना रखा है जिसमें हिंदुस्तान भर के बदमाश जुड़े हुए हैं.

पुलिस के हत्थे चढ़े एक बदमाश के मोबाइल ने खतरनाक राज खोला है. गैंगस्टर हरेन्द्र जाट के गुर्गे नीरज राणा की व्हाट्सएप डिटेल खंगालने पर  पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई. ग्वालियर पुलिस ने सोशल मीडिया पर अवैध हथियार के साथ फोटो डालने वाले नीरज राणा नाम के बदमाश को पकड़ा था. जब पुलिस ने नीरज का मोबाइल खंगाला तो उसमें कोलकाता के एक वकील की सुपारी कीलिंग का राज खुला है. पकड़ा गया बदमाश 10 दिन बाद कोलकाता जाकर एक वकील को मौत के घाट उतारने वाला था. वो चंबल एक्सप्रेस में अपना रिजर्वेशन भी करवा चुका था.

बच गयी वकील की जान
समय पर हुई गैंगस्टर की गिरफ्तारी से कोलकाता के एक वकील की जान बच गयी. ग्वालियर पुलिस ने नीरज राणा नाम के बदमाश को पकड़ा था. उसने कोलकाता के एक बदमाश के साथ मिलकर वहां के एक वकील की हत्या की सुपारी ली थी.  दोनों बदमाशों की पहचान उज्जैन के गैंगस्टर के वॉट्सएप ग्रुप के जरिए हुई थी. ग्वालियर पुलिस की सूचना पर कोलकता पुलिस ने वहां दूसरे सुपारी किलर को दबोच लिया.

ये भी पढ़ें- OMG : वन विहार में अटक गयी सबकी सांस जब बाड़े से बाहर निकल आया बाघ….

मर्डर की सुपारी
पिछले सप्ताह अवैध हथियार के साथ एक युवक का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. एक युवा बेड पर पिस्टल, कारतूस सजाकर लेटा हुआ है, बगल में में लिखा था “I AM BACK JATTMIND’. पुलिस ने सोशल मीडिया पर फोटो वायरल होने के बाद मामले की जांच शुरू की. तीन दिन की मशक्कत के बाद युवक की शिनाख्त नीरज जाट के रूप में हुई थी. पुलिस ने जानकारी जुटाई तो नीरज ग्वालियर के कुख्यात  गैंगस्टर हरेन्द्र जाट का भतीजा निकला. भितरवार इलाके से नीरज को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उसका मोबाइल चेक किया तो उसमें उज्जैन के गैंगस्टर के नाम से बने एक वॉट्सएप ग्रुप का पता चला. नीरज जाट का उसमें कोलकाता के पवन राय नाम के बदमाश से संपर्क हुआ था. दोनों के बीच लगातर बातचीत का रिकॉर्ड भी पुलिस के हाथ लगा है. पवन राय नीरज को 5 लाख रुपए में एक वकील को टपकाने की सुपारी दे रहा है. नीरज ने ये सुपारी ले ली थी. 8 से 10 दिन बाद कोलकाता जाकर  वकील की हत्या करना थी. नीरज के   ग्वालियर से कोलकाता जाने का टिकिट भी बुक हो चुका था. सुपारी देने वाले ने नीरज को वारदात के लिए पिस्टल उपलब्ध कराई थी. पवन राय बंगाल के किसी नेता का खास आदमी है.

उज्जैन के बदमाश के जरिए सुपारी की डील
क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की तो नीरज ने बताया कि कोलकाता के पवन राय से उसकी डील उज्जैन के एक बदमाश ने करवाई थी. नीरज उज्जैन के गैंगस्टर दुर्लभ कश्यप के नाम से बने ग्रुप में है. इसी ग्रुप में नीरज की मुलाकात  कोलकाता के पवन से हुई थी. इस सनसनीखेज खुलासे से ग्वालियर पुलिस सख्ते में आ गई और फ़ौरन कोलकाता पुलिस से संपर्क किया. कोलकाता पुलिस भी यह इनपुट मिलने पर आश्चर्य चकित हो गई. उसने पवन राय को तत्काल हिरासत में लेकर मामला दर्ज किया.

Tags: Crime in MP, Gwalior news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें