लाइव टीवी

गजराराजा मेडिकल कॉलेज में डीन पद पर तैनाती को लेकर घमासान, MCI ने एमटीए को बताया फर्जी
Gwalior News in Hindi

Sushil Koushik | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 17, 2020, 6:11 PM IST
गजराराजा मेडिकल कॉलेज में डीन पद पर तैनाती को लेकर घमासान, MCI ने एमटीए को बताया फर्जी
गजराराजा मेडिकल कॉलेज के डीन पद को लेकर MCI और एमटीए में विवाद.

ग्वालियर के गजराराजा मेडिकल कॉलेज (Gajararaja Medical College) में डीन के पद की नियुक्ति को लेकर विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. जबकि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन को फर्जी करार दिया है.

  • Share this:
ग्वालियर. देश के नामचीन मेडिकल कॉलेजों में शुमार ग्वालियर के गजराराजा मेडिकल कॉलेज (Gajararaja Medical College) में डीन के पद की नियुक्ति को लेकर विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. दो महीने से मेडिकल कॉलेज प्रभारी डीन के भरोसे चल रहा है. जबकि मेडिकल कॉलेज के डीन की नियुक्ति के लिए व्यक्ति विशेष की तैनाती की कवायद हो रही है. ऐसे में मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन (Medical Teachers Association) ने विरोध किया है, तो वहीं डीन के दावेदारों (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) ने मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन को फर्जी करार दिया है.

डीन पद के लिए रस्साकशी जारी
ग्वालियर के गजराराजा मेडिकल कॉलेज में डीन के पद पर नियुक्ति को लेकर रस्साकशी हो रही है. कभी आवेदन की विज्ञप्ति पर सवाल खड़े कर दिए जाते हैं, तो कभी योग्यता की नियम और शर्तों पर. दरअसल, जीआरएमसी में दो महीने से रिक्त डीन के पद पर नियुक्ति के लिए 20 जनवरी को इंटरव्यू होना था, लेकिन विवाद के चलते वह भी टल गया है. डॉ. शशि गांधी, डॉ. केके तिवारी, डॉ. आरकेएस धाकड़ और डॉ. अशोक मिश्रा डीन के दावेदार थे. हालांकि उससे पहले ही एक बार फिर नियुक्ति को लेकर अपनाई जा रही प्रक्रिया को लेकर विवाद शुरू हो गया है. मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर सुनील अग्रवाल का कहना है कि नए नियमों के अनुसार डीन का चयन हुआ तो 95 फीसदी डॉक्टर रेस से बाहर हो जाएंगे.

मेडिकल टीचर्स एसोसिशन ही अवैधानिक संस्था

ऑटोनोमस बॉडी के तहत भर्ती हुए डॉक्टरों ने संभागायुक्त एमबी ओझा से मिलकर आपत्ति दर्ज कराई कि हमें डीन पद के लिए आवेदन करने से क्यों दूर रखा गया है. जबकि प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज ऑटोनोमस हैं. मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नियमों के अनुसार ही मध्य प्रदेश के रतलाम मेडिकल कॉलेज में भी डीन की नियुक्ति हुई है. जबकि डीन के लिए दावेदार डॉक्टर का कहना है कि प्रदेश की दूसरे मेडिकल कॉलेजों में भी एमसीआई का नियम ही लागू होता है. ऐसे में जो लोग इसका विरोध कर रहे हैं वह ठीक नहीं है. मेडिकल कॉलेज में जो डॉक्टर टीचर एसोसिएशन बनाकर विरोध कर रहे हैं, वो एसोसिएशन ही अवैध है.

गौरतलब है कि करीब दो महीने पहले डॉ. भरत जैन को प्रदेश सरकार के निर्देश पर डीएमई ने गजराराजा मेडिकल कॉलेज के डीन पद से हटा दिया था, तब से मेडिकल कॉलेज प्रभारी के भरोसे चल रहा है. जबकि डीन पद पर तैनाती को लेकर एमसीआई (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) के डॉक्टर और एमटीए (मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन) के डॉक्टर आमने सामने हैं.

 ये भी पढ़ें-

कांग्रेस MLA ने कमलनाथ के खिलाफ खोला मोर्चा, चिट्ठी के जरिए लगाए ये आरोप

 

स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के बजाय कराई गई रंगाई-पुताई, एक्‍शन में विभाग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 6:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर