शादियों पर कोरोना का साया: जबरदस्त तनाव में परिवार, कैसे होगी शादी, कौन वापस करेगा रुपए

ग्वालियर में शादियों पर कोरोना का साया पड़ गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

ग्वालियर में शादियों पर कोरोना का साया पड़ गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Madhya Pradesh के ग्वालियर में लोग जबरदस्त तनाव में हैं. शादियों पर कोरोना का साया छा गया है. लोगों का कहना है कि शादियों की डेट फिक्स है. अगर कैंसिल करते हैं तो सब बिखर जाएगा.

  • Share this:
ग्वालियर. कोरोना की बेकाबू रफ्तार के मद्देनजर सरकार ने पूरे प्रदेश में दो दिन का लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है. इस घोषणा से ग्वालियर में वे लोग जबरदस्त तनाव में आ गए हैं, जिनके घरों में शादियां हैं और जो शादियों के काम से जुड़े हुए हैं.

ग्वालियर के सैकड़ों परिवारों के सामने अब सबसे बड़ी समस्या है कि शादी की व्यवस्था कैसे होगी, क्योंकि जिन दिनों में लॉकडाउन होना है उन्हीं दिनों में भी बड़े महूर्त की शादियां हैं. इन लोगों का कहना है कि प्रशासन हमे इतनी छूट तो दे जिससे हम तय तारीख पर शादी कर सकें क्योकि, कैंसिल कर नही सकते. मैरिज गार्डन वाले पैसा वापिस करेंगे नहीं. नियम को इतना शिथिल किया जाए जिससे हमारी समस्या खत्म हो.

पिछली बार बहुत घाटा सहन किया - मैरिज गार्डन संचालक

वहीं, मैरिज गार्डन संचालकों का कहना है कि हमने पिछली बार भी बहुत घाटा सहन किया है. अब प्रशासन शादी समारोह के लिए नियम तय करे. हम लगातार प्रशासन से बातचीत कर रहे हैं. मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा है. गार्डन संचालक राम कुमार का कहना है कि मध्य प्रदेश के दमोह में चुनाव हो सकता है. वहां भीड़ पर कोई नियम नही है.
लॉकडाउन पर सियासत शुरू

लॉकडाउन के आदेश के बाद सियासत भी शुरू हो गई है. कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र सरकार और शिवराज सिंह को सिर्फ लॉकडाउन ही विकल्प नज़र आता है. दमोह में पूरी भाजपा भीड़ जुटाने में लगी है. वहां कोरोना नहीं है. लगता है कोरोना भी भगवा की तरह हो गया है. वहीं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता का कहना है कि मुख्यमंत्री ने बड़े कठोर मन से यह निर्णय लिया है. सपष्ट किया है लॉकडाउन अंतिम विकल्प नहीं है मजबूरी है. लोगो की जान बचानी है.

व्यापारी संघ करेगा धरना-प्रदर्शन



वहीं, व्यापारी संघ का कहना है कि 13 तारीख को बड़ा धरना आंदोलन करेंगे, क्योंकि लॉकडाउन के चलते व्यापार पूरी तरह टूट चुका है. आर्थिक परेशानियों के चलते कई लोगों ने आत्महत्या की है. शादी समारोह की गाइड लाइन में सरकार को ध्यान देना होगा, क्योंकि इनसे भी बड़ा व्यापार जुड़ा हुआ है. लॉकडाउन से क्या परिणाम सामने आते हैं वो तो बाद का विषय है. लेकिन, बंद से  व्यापारियों और आम लोगो मे  नाराजगी देखी जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज