होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /BJP से निष्कासित प्रीतम लोधी ने अब समर्थकों से बोला - बंदूक उठाओ, अत्याचार नहीं सहना

BJP से निष्कासित प्रीतम लोधी ने अब समर्थकों से बोला - बंदूक उठाओ, अत्याचार नहीं सहना

दशहरा मिलन समारोह में प्रीतम ने अपने समर्थकों से बंदूक उठाने की अपील की.

दशहरा मिलन समारोह में प्रीतम ने अपने समर्थकों से बंदूक उठाने की अपील की.

Gwalior. ग्वालियर के जलालपुर में तलवार वाले हनुमान मंदिर परिसर में दशहरा मिलन समारोह हुआ. प्रीतम लोधी ने OBC के बैनर तल ...अधिक पढ़ें

ग्वालियर. भाजपा से निष्कासित प्रीतम लोधी ने एक फिर अपना बाहुबल दिखाया है. ग्वालियर में दशहरा मिलन समारोह में प्रीतम ने अपने समर्थकों से बंदूक उठाने की अपील की. प्रीतम ने दशहरा मिलन में कहा ” न तो अत्याचार देखना है न ही सहना है. घबराओ नहीं शान से बंदूक उठाओ. एक भी लाइसेंस रद्द नहीं होने दूंगा. कार्यक्रम में प्रीतम के समर्थक और OBC कार्यकर्ता मौजूद थे. समर्थकों ने हाथों में बंदूकें लहराई और प्रीतम की अपील का समर्थन किया. पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है.

ब्राह्मण समाज पर टिप्पणी के बाद प्रीतम को BJP ने पार्टी से बेदखल कर दिया था. इसके बाद वो बाघेश्वर मन्दिर के आचार्य धीरेंद्र शास्त्री के साथ हुए बयानी विवाद और भिंड रैली में हुए बवाल को लेकर भी सुर्खियों रहे.

प्रीतम ने समर्थकों से कहा- अत्याचार के खिलाफ बंदूक उठाओ
ग्वालियर के जलालपुर में तलवार वाले हनुमान मंदिर परिसर में दशहरा मिलन समारोह हुआ. प्रीतम लोधी ने OBC के बैनर तले दशहरा मिलन आयोजित किया था. कार्यक्रम में  वो मंच पर बोल रहे थे, सामने मैदान में उनके समर्थक हाथों में बंदूकें और तलवार लेकर खड़े थे. प्रीमत लोधी ने अपने समर्थकों को शपथ दिलाई है कि” न अत्याचार करेंगे न ही देखेंगे और सहन तो बिल्कुल भी नहीं करेंगे. इसके बाद समर्थक एक साथ हाथों में तलवार और बंदूक लेकर हवा में लहराते रहे. इस दौरान प्रीतम ने समर्थकों से दावा करते हुए कहा कि किसी का भी लाइसेंस निरस्त नहीं होगा. अगर होगा तो मैं वापस बनवा दूंगा.

ये भी पढ़ें- अग्निवीर भर्ती में दो मु्न्ना भाई, ऊंचा कद दिखाने ऐसे हथकंडे अपनाए कि चक्कर में पड़ गए अफसर
ब्राह्मणों पर टिप्पणी करने पर भाजपा से बाहर
प्रीतम लोधी पूर्व सीएम उमा भारती के नजदीकी रिश्तेदार हैं. प्रीतम ने ब्राह्मण समाज को लेकर टिपण्णी की थी. इस टिप्पणी के बाद बढ़ते विरोध को देख भाजपा ने प्रीतम को पार्टी से बेदखल कर दिया था. इस टिप्पणी के बाद प्रीतम पर चारों तरफ से बयानी हमले हो  रहे थे. बागेश्वर धाम के पंडित धर्मेंद्र शास्त्री ने अपने कथा के मंच से प्रीतम को धमकी दी थी और कहा था कि ये नेता यदि मुझे मिल गया तो मैं उसे मसल दूंगा. प्रदेश के लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि सच्चे सनातनी हो तो उसे मजा जरूर चखाना. नहीं तो चूड़ी पहन लेना. प्रीतम बाद में ओबीसी महासभा में शामिल हो गए और बागेश्वर धाम के कथावाचक धीरेंद्र कुमार शास्त्री पर अभद्र टिप्पणी की. प्रीतम लोधी ने कहा है कि एक तथाकथित कथावाचक मेरी ठठरी बांधने की बात कर रहा है. मैं बागेश्वर धाम के पंडित धर्मेंद्र शास्त्री से कहना चाहता हूं. बहुत शौक है मेरी ठठरी बांधने का, तो मुझसे एक बार मिल लेना, कपड़े गीले हो जाएंगे.

Tags: Gwalior news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें