ऑक्सीजन और इंजेक्शन की कालाबाज़ारी से नाराज़ BJP नेता मंत्री के घर के बाहर लेट गए, बोले नौटंकी मत करो

दो दिन पहले जयारोग्य अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत हो गयी थी.

दो दिन पहले जयारोग्य अस्पताल में ऑक्सीजन की किल्लत हो गयी थी.

Gwalior. धरना खत्म करने के बाद पूर्व जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा ने उन्हें मनाने आए मंत्री प्रद्युम्न सिंह को नौटंकी न करने की नसीहत दी.

  • Share this:
ग्वालियर. ग्वालियर में रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन (Oxygen) की कालाबाज़ारी को लेकर हाहाकार मचा है. अब तो BJP नेताओं ने अपने ही मंत्री और सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. BJP के पूर्व शहर जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा ने कोविड प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के बंगले के बाहर बिस्तर बिछाकर धरना देने पहुंच गए.

BJP पदाधिकारियों को रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन न मिलने से नाराज़ होकर देवेश शर्मा ने धरना दिया. उन्होंने मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को 5 लोगों को इंजेक्शन और ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए Msg किया था. लेकिन मंत्री से गुजारिश के बाद भी पूर्व जिला अध्यक्ष और पदाधिकारियों के लिए इंजेक्शन नहीं मिले. इसी बात से नाराज़ होकर आधी रात में देवेश शर्मा मंत्री के बंगले के बाहर बोरिया बिस्तर डालकर लेट गए. इस दौरान उधर से गुजर रहे कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार भी धरने में शामिल हो गए.

नेता ने अपने मंत्री को दी नौटंकी न करने की हिदायत

खबर लगते ही मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर फौरन देवेश शर्मा के पास पहुंच गए. उन्होंने पूर्व जिला अध्यक्ष को समझाया, लेकिन वो नहीं मानें. आखिर में उनकी बड़े नेताओं और पदाधिकारियों से बात कराई गयी. इंजेक्शन उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया तब जाकर देवेश मानें. धरना खत्म करने के बाद पूर्व जिला अध्यक्ष देवेश ने मनाने आए मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को खरी-खोटी सुनाई. साथ ही जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन विरतण की लिस्ट देने की मांग की और मंत्री प्रधुम्न सिंह को नौटंकी न करने की नसीहत दी.
पूर्व मंत्री ने सरकार को घेरा

BJP के पूर्व विधायक और मंत्री अनूप मिश्रा ने भी इंजेक्शन और ऑक्सीजन किल्लत को लेकर आरोप लगाया है. उन्होंने सीएम शिवराज सिंह को ट्वीट किया है. मिश्रा ने रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी का आरोप लगाया है. उन्होंने लिखा है-सांसों का संघर्ष अति दुखदाई स्थिति में पहुंच गया है. रेमेडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी ने व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है. ये दोनों चीजें आम आदमी की पहुंच से दूर हैं. लेकिन दलालों और कुछ नेताओं के पास उपलब्ध है.





प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अस्पताल में काटी रात

दो दिन पहले जयारोग्य अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण भगदड़ मच गयी थी. और अब इंजेक्शन की भी किल्लत है. इन हालातों के बीच प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अस्पताल में रात काटी. वो ज़िले के कोविड प्रभारी मंत्री भी हैं. प्रद्युम्न सिंह तोमर जयारोग्य और सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में रात भर मौजूद रहे. उस दौरान उन्होंने देर रात गंभीर मरीज़ को न्यूरो वार्ड में भर्ती कराया. सुपर स्पेशलिटी अस्पताल से डॉक्टर-नर्स को अपनी गाड़ी में बैठाकर न्यूरो वार्ड लेकर आए. डॉक्टर-नर्स के आने पर न्यूरो वार्ड में गंभीर मरीज़ का इलाज शुरू हो पाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज