लाइव टीवी

कलेक्टर का अनोखा आदेश- बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो गौशाला में देने होंगे 10 कंबल

भाषा
Updated: December 15, 2019, 4:27 PM IST
कलेक्टर का अनोखा आदेश- बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो गौशाला में देने होंगे 10 कंबल
ग्वालियर बंदूक की लाइसेंस के लिए गौशाला में 10 कंबल देने का आदेश दिया गया है. (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के ग्वालियर (Gwalior) में गायों को ठंड से बचाने के लिए जिला कलेक्टर (Collector) ने अनोखा आदेश दिया है. कहा गया है कि अगर किसी को बंदूक का लाइसेंस (gun license) चाहिए तो उसे गौशाला (cowshed) में 10 कंबल (blankets) देना होगा.

  • Share this:
ग्वालियर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के चंबल इलाके में बंदूक रखना शान की बात मानी जाती है. लेकिन बंदूक रखने के लिए प्रशासन से लाइसेंस (gun license) की जरूरत पड़ती है. मगर इन दिनों ग्वालियर (Gwalior) में बंदूक की लाइसेंस लेने के लिए प्रशासन ने और अजीब 'शर्त' रख दी है. जी हां, जिले में बंदूक का लाइसेंस लेने के इच्छुक लोगों के लिए जिला कलेक्टर (Collector) ने शर्त रखी है कि लाइसेंस चाहने वालों को ग्वालियर की सरकारी गौशाला (cowshed) के लिए 10 कंबल (blankets) देने होंगे. कलेक्टर अनुराग चौधरी ने शनिवार को ग्वालियर की लाल टिपारा और गोला का मंदिर स्थित गौशाला का निरीक्षण किया. इसी दौरान उन्होंने यह बात कही.

ठंड से बचाने की कवायद
लाल टिपारा और गोला का मंदिर स्थित गौशालाओं के निरीक्षण के बाद कलेक्टर अनुराग चौधरी ने यह अजीब शर्त रखी. उन्होंने इसकी वजह भी स्पष्ट की. कलेक्टर अनुराग चौधरी ने बताया कि गौशाला में गायों को ठंड से बचाने के लिए यह तय किया गया है कि यदि किसी को बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो उसे गौशाला को 10 कंबल देने होंगे. संबंधित विभाग के अधिकारियों को इस संबंधी निर्देश दे दिए गए हैं.

बता दें, गोला का मंदिर स्थित गौशाला में पिछले हफ्ते ठंड से छह गायों की मौत हुई थी. इसके बाद कलेक्टर चौधरी ने वहां की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करके रेड क्रॉस की ओर से तीन लाख रुपए की धनराशि गौशाला को दी थी. इस समय ग्वालियर में नगर निगम की दो गौशालाएं, गोला का मंदिर और लाल टिपारा में हैं और इनमें करीब 8,000 गायें हैं.

पौधे लगाने की भी रखी थी शर्त
आपको बता दें कि बंदूक की लाइसेंस लेने के लिए कलेक्टर अनुराग चौधरी का अजीबो-गरीब आदेश पहली बार नहीं आया है. छह महीने पहले भी उन्होंने इसी तरह का एक आदेश दिया था. उस समय कलेक्टर की ओर से आदेश दिया गया था कि जिले में बंदूक का लाइसेंस चाहने वालों को 10 पौधे लगाने होंगे और उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी लेने के साथ पौधों के फोटो आवेदन के साथ देने होंगे. कलेक्टर ने इस अवधि में बंदूकों के करीब 147 लाइसेंस जारी किए और इस दौरान करीब 1700 पौधे भी लगाए गए.

ये भी पढ़ें -ग्वालियर के इस अस्पताल के खिलाफ ज़िला प्रशासन की कार्रवाई, बेजा कब्ज़ा बताकर की गई तोड़फोड़

कमलनाथ की मंत्री इमरती देवी ने किया 'मुझको राणा जी माफ करना' पर डांस, VIDEO वायरल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ग्वालियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 4:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर