• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP News: ग्वालियर पुलिस के जाल में फंसा बिटक्वाइन के नाम पर ठगने वाला गिरोह, 2 गिरफ्तार

MP News: ग्वालियर पुलिस के जाल में फंसा बिटक्वाइन के नाम पर ठगने वाला गिरोह, 2 गिरफ्तार

UP: गाजियाबाद में स्कॉलरशिप और फीस रिफंड घोटाले में एसआईटी ने एफआईआार दर्ज करा गई है. (सांकेतिक फोटो)

UP: गाजियाबाद में स्कॉलरशिप और फीस रिफंड घोटाले में एसआईटी ने एफआईआार दर्ज करा गई है. (सांकेतिक फोटो)

Fraud In The Name Of Bitcoin: लोगों को बिट-क्वाइन में रुपए लगाकर दोगुना करने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए ग्वालियर पुलिस ने 2 जालसाजों को गिरफ्तार किया है. जालसाजों को दबोचने पुलिस ने खुद ग्राहक बनकर बिटक्वाइन में रुपए लगाने का सौदा किया.

  • Share this:

ग्वालियर. लोगों को बिट-क्वाइन में रुपए लगाकर दोगुना करने का झांसा देकर ठगी करने वाली गैंग का ग्वालियर पुलिस ने भंडाफोड किया है. पुलिस ने मामले में 2 जालसाजों को गिरफ्तार करने का दावा भी किया है. गिरोह तक पहुंचने के लिए पुलिस ने खुद ही ग्राहक बनकर बिट-क्वाइन में रुपए लगाने का सौदा किया, जब जालसाज टीम के ठग ग्राहक बने थाटीपुर पुलिस से रुपए लेने पहुंचे तो पुलिस ने दर्जनों लोगों से करोडों रुपए ठगने वाले गिरोह के दो सदस्यों को दबोच लिया. गिरोह के 5 साथी अभी भी फरार हैं. पुलिस को आशंका है कि गैंग के सदस्यों ने ग्वालियर में ही लोगों से दस करोड़ रुपए की ठगी की है. फिलहाल पुलिस ठगों से पूछताछ कर रही है.

ग्वालियर के थाटीपुर थाने में लगभग दो दर्जन लोगों ने बिट-क्वाइन के नाम पर ठगी होने की शिकायत की थी. लोगों ने शिकायत में बताया कि डबरा निवासी अनिल मौर्य, चंद्रभान जाटव, प्रमोद वर्मा, सतीश सैनी, आदर्श नरवरिया और दो अन्य लोगों ने उनसे डेढ़ करोड़ रुपए ज्यादा ठगे हैं. दरअसल ये जालसाज गैंग फॉर एवर नाम से कंपनी (Forever Company) संचालित करते हैं. लोगों को झांसा देते थे कि आपका पैसा बिट-क्वाइन में लगाया जा रहा है. तीन साल में आपके द्वारा लगाया गया रुपया दोगुना हो जाएगा. बिटक्वाइन की कीमत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार बढ़ रही है. लोगों को झांसा देकर रुपए जमा करते थे, इसके बाद लोगों की गाढ़ी कमाई लेकर गायब हो जाते थे. लोगों की शिकायत पर थाटीपुर पुलिस ने मामला दर्ज कर पडताल शुरू की.

पुलिस ने टीम बनाकर बिछाया जाल
थाटीपुर थाना प्रभारी आरबीएस विमल ने बताया कि ठगों को दबोचने के लिए एक टीम बनाई गई. SI ब्रह्मानंद शर्मा, ASI दिनेश तोमर, आरक्षक पवन झा, अजय शर्मा और महिला आरक्षक शिवानी की टीम बनाकर आरोपियों की खोजबीन में लगाया. किसी तरह पुलिस कर्मी गैंग के सदस्यों के फोन नंबर हासिल करने में कामयाब हुए. पुलिसकर्मियों ने गैंग से सदस्यों से बडा इनवेस्ट करने की डील की. जब डील के तहत रुपए लेने के लिए गैंग के सदस्य अनिल मौर्य और चंद्रभान आए तो थाटीपुर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में खुलासा हुआ कि गैंग के पांच साथी अभी भी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज