ग्वालियर में नए मेडिकल कॉलेज के लिए सिंधिया ने CM शिवराज को लिखा पत्र, रखी यह मांग...

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री के नाम लिखे गए पत्र में कहा कि ग्वालियर में स्थापित होने वाले नये मेडिकल कॉलेज में मरीजों को बेहतर और सुलभ इलाज मिल सकेगा (फाइल फोटो)

ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चोहान को लिखे पत्र में उनसे गुजारिश करते हुए कहा कि जीवाजी विश्वविद्यालय के नए मेडिकल कॉलेज से ग्वालियर-चंबल (Gwalior-Chambal) के साथ ही पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती जिलों के लोगों को भी फायदा मिलेगा

  • Share this:
ग्वालियर. बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने जीवाजी विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज निर्माण में मदद के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) को पत्र लिखा है. सिंधिया ने जीवाजी विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज (Medical College) की जमीन का प्रीमियम भू-भाटक राशि माफ करने की गुजारिश की है. सिंधिया ने चिट्ठी में गुजारिश करते हुए लिखा है कि नए मेडिकल कॉलेज से ग्वालियर-चंबल (Gwalior-Chambal) के साथ ही पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती जिलों के लोगों को भी फायदा मिलेगा.

सिंधिया ने सीएम शिवराज को भेजे खत में लिखा है, कोविड 19 के चलते प्रदेशवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने का काम चुनौतीपूर्ण रहा है. ग्वालियर एक बड़ा शहर होने के कारण, भिंड, मुरैना, शिवपुरी, गुना ,छतरपुर, टीकमगढ़, धौलपुर के मरीजों की मेडिकल आवश्यकताओं की पूर्ति करता है. पत्र में उन्होंने कोरोना की दूसरी लहर का भी जिक्र करते हुए लिखा कि कोविड के दौरान मिले अनुभवों को देखते हुए ग्वालियर में स्वास्थ्य सुविधाओं की अधौसंरचना में बढ़ाने की जरुरत है. जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर में एक मेडिकल कॉलेज स्थापित करना चाहता है, मेडिकल कॉलेज पर होने वाले व्यय का वित्तीय भार विश्वविद्यालय द्वारा स्वयं वहन किया जाएगा, जिसके चलते राज्य सरकार पर अतिरिक्त वित्तीय भार नहीं पड़ेगा. इसलिए मेरा आपसे अनुरोध है कि जीवाजी विश्वविद्यालय क लिए ग्राम तुरारी में 17.45 हैक्टेयर भूमि में मेडिकल कॉलेज आरक्षित की गई है.

सिंधिया ने लिखा कि राजस्व विभाग द्वारा इस जमीन के लिए प्रीमियम राशि 27 करोड 92 लाख रुपए और भू-भाटक की राशि एक करोड़ 39 लाख रुपए बताई गयी है, यह रुपए माफ किए जाने की कार्रवाई के लिए संबंधित को निर्देशित करने का कष्ट करें. उन्होंने आगे लिखा कि मुझे विश्वास है कि आपकी स्वीकृति से ग्वालियर में स्थापित होने वाले इस मेडिकल कॉलेज में मरीजों को बेहतर और सुलभ इलाज मिल सकेगा.

शहर से 10 किलोमीटर दूर बनेगा मेडिकल कॉलेज

ग्वालियर में जीवाजी विश्वविद्याल द्वारा तुरारी गांव के पास मेडिकल कॉलेज बनाया जाएगा. जिले में अभी एकमात्र गजराराजा मेडिकल कॉलेज है जिसके तहत जयारोग्य अस्पताल समूह के तीन अस्पताल आते हैं. नए मेडिकल कॉलेज बनने से लोगों को इलाज में राहत मिलेगी. साथ ही देश को नए डॉक्टर भी उपलब्ध होंगे. जीवाजी विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज से ग्वालियर-चंबल के साथ उत्तर प्रदेश और राजस्थान के मरीजों को भी लाभ मिलेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.