अपना शहर चुनें

States

Gwalior News : 4 करोड़ की सरकारी ज़मीन पर मछली पाल कर माफिया कमा रहा था 6 करोड़ ₹

सरकारी ज़मीन पर बने इस तालाब में प्रतिबंधित मछली पाली जा रही थी.
सरकारी ज़मीन पर बने इस तालाब में प्रतिबंधित मछली पाली जा रही थी.

Gwalior News : मुरार में भी एंटी माफिया सेल ने बड़ी कार्रवाई की है.रतवाई में 8 करोड़ रुपये कीमत की साढ़े तीन हेक्टेयर जमीन से अतिक्रमण हटाया.सरकारी जमीन पर तीन निजी कॉलेज संचालकों ने कब्जा कर रखा था.

  • Share this:
ग्वालियर.ग्वालियर में आज एंटी माफिया (Anti Mafia) सेल ने ताबड़तोड़ कार्रवाई की. यहां सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर माफिया थाईलैंड की मछली (Fish) पाल रहा था. इस ज़मीन की कीमत 4 करोड़ रुपये है जिस पर सालाना 6 करोड़ रुपये की कमाई की जा रही थी. प्रशासन ने सारा अवैध निर्माण ढहा कर ज़मीन से कब्ज़ा हटा दिया.दूसरी कार्रवाई बड़ागांव में की गयी.यहां सरकारी ज़मीन पर बने 3 निजी कॉलेज जमींदोज कर दिए गए.तीन कॉलेज संचालकों के कब्जे से 8 करोड़ की सरकारी जमीन मुक्त कराई गयी.

ग्वालियर के एंटी माफिया सेल ने गिरवाई में सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंची तो अफसर हैरान रह गए. एसडीएम अनिल बनवारिया के मुताबिक गिरवाई में पहाड़ नजूल की करीब 10 बीघा सरकारी जमीन पर जबर सिंह लोधी और उसके परिवार ने अवैध अतिक्रमण कर रखा था.सरकारी जमीन पर 4 तालाब बना रखे थे. प्रशासन के बुलावे पर मछली पालन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची.विशेषज्ञों ने बताया कि तालाब में थाईलैंड की मांगुर मछली का पाली जा रही थी.ये मछली देश मे प्रतिबंधित है.मांगुर मछली पानी में गिरने वाले इंसान का मांस खा जाती है. SDM के मुताबिक अतिक्रमणकारी कई साल से यहां कब्जा जमाए रखा था.

4 करोड़ की सरकारी जमीन पर 6 करोड़ की कमाई




ग्वालियर में ये माफिया ये प्रतिबंधित मछली पालकर हर महिने 50 से 60 लाख रुपया कमा रहा था.कुल मिलाकर 4 करोड़ रुपये की इस सरकारी जमीन पर मछली पालकर 6 करोड़ रुपए सालाना की कमाई की जा रही थी. प्रशासन की टीम ने JCB की मदद से तालाब तुड़वा दिए.अतिक्रमणकारी जबर सिंह ने अपनी निजी जमीन पर अवैध ईंट भट्ठे लगा रखे हैं. उस पर 19 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया. साथ ही बिजली चोरी का प्रकरण अलग से बनाया गया.

तीन कॉलेज संचालकों ने कब्ज़ा रखी थी 8 करोड़ की ज़मीन
मुरार में भी एंटी माफिया सेल ने बड़ी कार्रवाई की है. मुरार SDM पुष्पा पुष्पाम की टीम ने बड़ा गांव के पास कार्रवाई की.ग्राम रतवाई में 8 करोड़ रुपये कीमत की साढ़े तीन हेक्टेयर जमीन से अतिक्रमण हटाया.सरकारी जमीन पर तीन निजी कॉलेज संचालकों ने कब्जा कर रखा था. ग्वालियर के विक्रांत कॉलेज, बीआईटीएस और एलएनआईटी कॉलेज संचालकों ने सरकारी जमीन पर बाउंड्री वॉल बनाकर बिल्डिंग भी तान दी थी. प्रशासन ने कॉलेज की बिल्डिंग ढहा दी और जमीन अतिक्रमण मुक्त करा ली.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज