ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में कर्मचारियों की हड़ताल से चरमराई स्वास्थ सेवाएं

ग्वालियर में स्वास्थ्यकर्मियों के हड़ताल व नारेबाजी का दृश्य
ग्वालियर में स्वास्थ्यकर्मियों के हड़ताल व नारेबाजी का दृश्य

ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल के करीब 450 स्वाशासी कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं. नर्सिंग और पैरामेडिकल की दो दिवसीय हड़ताल है.सोमवार को पहले दिन नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ ने तीन घंटे काम बंद हड़ताल की.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में तैनात स्वशासी कर्मचारियों की हड़ताल से स्वास्थ सेवाएं चरमरा गई है. ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में साढ़े चार सौ कर्मचारियों ने अभी कुछ घंटे काम बंद हड़ताल को हुए हैं. इस बीच नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ ने मेडिलक कॉलेज के डीन और जयारोग्य अस्पताल के अधीक्षक का घेराव किया.इसके चलते अस्पताल में लंबी-लंबी कतारें लग गई. अस्पताल में मरीजों और अटेंडरों के साथ आए बच्चे खासे परेशान रहे.42 डिग्री तापमान में मरीज और अंटेडर अपने पर्चे बनवाने और इलाज के लिए भटकते रहे. अधिकारी भी मानते हैं कि हड़ताल के चलते स्वास्थ सेवाएं प्रभावित हुई है वहीं अस्पताल प्रशासन वैकल्पिक व्यवस्था करने की बात कह रहा है.

ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल के करीब 450 स्वाशासी कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं. नर्सिंग और पैरामेडिकल की दो दिवसीय हड़ताल है.आज सोमवार को पहले दिन नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ ने तीन घंटे काम बंद हड़ताल की. सांतवें वेतनमान. समयमान वेतनमान, राष्ट्रीय पेंशन योजना आदि मांगो को लेकर दो दिवसीय हड़ताल से स्वास्थ सेवाएं चरमरा गई है. तीन घंटे तक नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ ने काम नहीं किया.इसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ा.

पैरामेडिकल स्टाफ की हड़ताल से ओपीडी में आने वाले मरीज पर्चा बनवाने के लिए तीन से चार घंटे तक लाइन में खड़े रहे. वहीं नर्सों के काम बंद करने से विभिन्न वार्डों में भर्ती मरीजों को इलाज के लिए परेशान होना पड़ा.मंगलवार को भी स्वासाशी कर्मचारियों की तीन घंटे काम बंद हड़ताल रहेगी.ऐसे में अधिकारियों ने स्वास्थ सेवाओं के लिए नर्सिंग कॉलेज के छात्रों को तैनात किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज